JharkhandRanchi

दूसरे राज्य के नोडल अधिकारी के साथ झारखंड के अधिकारियों का समन्वय कम, CM को करना पड़ा हस्तक्षेप

विज्ञापन
  • हिमाचल में फंसे 3290 मजदूरों के घर वापसी के लिए जयराम ठाकुर ने हेमंत सोरेन को लिखा पत्र.
  • हिमाचल प्रदेश के CM जयराम ठाकुर ने कहा, “आपके नोडल अधिकारी नहीं देते जवाब, करें स्वंय पहल”.

Ranchi : लॉकडाउन में राज्य के बाहर फंसे हजारों झारखंडी प्रवासी मजदूर आज भी घर वापसी के इंतजार में है. दूसरी तरफ विभिन्न राज्यों में फंसे इन मजदूरों के घर वापसी के लिए बनाए गये नोडल अधिकारियों के काम करने की सक्रियता काफी कम है. इसकी जानकारी हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के एक पत्र से हुई है. यह पत्र उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लिखा है.

पत्र 15 मई की है. पत्र में हिमाचल के सीएम ने हेमंत सोरेन को कहा है कि राज्य में फंसे झारखंडी मजदूरों को वापस ले जाने के लिए उनके नोडल अधिकारी ने झारखंड के नोडल अधिकारी को कई बार पत्राचार किया है. लेकिन अभी तक कोई संतोषजनक उत्तर नहीं मिला है. हालांकि जानकारी मिली है कि पत्र की कॉपी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जैसे ही मिली, उन्होंने इसपर त्वरित कार्रवाई करने की सहमति दे दी है.

इसे भी पढ़ें- #CoronaUpdates : लोहरदगा में मिला नया कोरोना पॉजिटिव मरीज, राज्य का आंकड़ा पहुंचा 218

क्या लिखा है पत्र में

हेमंत सोरेन को लिखे पत्र में जयराम ठाकुर ने कहा है कि हिमाचल प्रदेश ने अन्य राज्यों के फंसे लोगों के रजिस्ट्रेशन के लिए एक पोर्टल जारी किया गया है. रजिस्ट्रेशन के बाद पता चला है कि यहां पर झारखंड राज्य के लगभग 3290 प्रवासी मजदूर फंसे हैं. इन सभी का जिलावार आंकड़ा उपलब्ध है.

हिमाचल के नोडल अधिकारी, आपके नोडल अधिकारी से उक्त प्रवासियों की सूची को साझा कर इन्हें झारखंड भेजने के बारे में बता चूके हैं. बार-बार पत्र लिखे जाने के बाद भी अभी तक कोई संतोषजनक उत्तर नहीं मिला है. आपसे निवेदन है कि इन फंसे मजदूरों के वापसी की सहमति प्रदान करने के लिए वे संबंधित अधिकारी को निर्देश जारी करें.

इसे भी पढ़ें- धनबाद : पैदल चलकर झारखंड पहुंचने वाले मजदूरों ने सुनायी पीड़ा, कहा-  नहीं मिली घर लौटने की सुविधा

सीएम ने दी फंसे मजदूरों की वापसी की सहमति

सीएम हेमंत सोरेन को लिखे पत्र की के बारे में न्यूज विंग ने अपने सूत्रों से जानकारी ली. बताया गया कि सीएम के संज्ञान में भी पूरी बात है. उन्होंने हिमाचल में फंसे प्रवासी मजूदरों की घर वापसी की सहमति दे दी है. जल्द ही इन मजदूरों को झारखंड वापस लाने का काम शुरू कर दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें- हिंदपीढ़ी में उपद्रवियों पर कार्रवाई ना करके सरकार तोड़ रही है पुलिस का मनोबल : भाजपा

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: