न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

झारखंड के अल्पसंख्यक, आदिवासी और दलित ज्यादा गरीब : अंजुमन बानो

'बातें अमन की' समानता यात्रा दल का गिरिडीह में जोरदार स्वागत

165

Giridih : देश के विभिन्न राज्यों की महिलाओं द्वारा निकाली गई ‘बातें अमन की’ समानता यात्रा का दल का गिरिडीह पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया. अमन के वास्ते…बराबरी के वास्ते, सबको मिले हुकूक, खुशी सबके वास्ते…आओ कि कोई ख्वाब बुनें कल के वास्ते.’ अमन, बराबरी और खुशहाली के पैगाम की मशाल लिए आधी आबादी की एक टोली सफर पर निकली हैं.  गिरिडीह में सामाजिक कार्यकर्ता रामदेव विश्वबंधु, धरनीधर प्रसाद, जिप सदस्य प्रमिला मेहरा, सहदेव राणा, एस कबीर और अन्य लोगों ने इस दल के सदस्यों का अभिनंदन किया. यहां दल की महिलाओं ने चैताडीह अंबेडकर भवन के सामने एक नुक्कड़ सभा को संबोधित कर महिलाओं, दलितों और अल्पसंख्यकों के अधिकारों से लोगों को अवगत कराया. उन्होंने कहा कि अमन और भाईचारे के साथ समाज को बांटने वाली ताकतों का मुकाबला करना होगा.

eidbanner

इसे भी पढे़ें : रानी मिस्त्री : हाथों में औजार लिए महिलाएं कर रहीं शौचालय निर्माण

झारखंड में दिखी गरीबी

समानता यात्रा दल में शामिल गुजरात के अहमदाबाद से आयीं वरिष्ठ सदस्या शेख अंजुमन बानो ने बताया कि उन्हें यात्रा के दौरान बाकी जगहों की अपेक्षा झारखंड में ज्यादा गरीबी दिखी. विशेषकर यहां के आदिवासी, अल्पसंख्यक और दलित समुदायों की हालत काफी दयनीय है. इन समुदायों की बस्तियों में बुनियादी सुविधाओं का भी घोर अभाव दिखा. छत्तीसगढ़ से आयीं शिल्पी समादार ने कहा कि राज्य में विकास योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक नहीं पहुंच रहा है. इसके लिए सरकारी सिस्टम दोषी है. महिलाओं पर अत्याचार बढ़े हैं. रांची की तारामनी साहू ने कहा कि गरीब लोग भोजन के अभाव में मर रहे हैं और सरकार सिर्फ विकास की झूठी घोषणाएं करने में लगी हैं.

Related Posts

NewsWing Impact : ऐतवारी के चेहरे पर छलकी मुस्कान, पेंशन बनी, राशन बाकी

newswing.com पर खबर आने के बाद अधिकारी ने लिया संज्ञान, वृद्धा की सुध ली

mi banner add

इसे भी पढे़ें : पैसाें को लेकर की गयी थी रौशन की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

कई राज्यों की महिलाएं शामिल

‘बातें अमन की’ यात्रा दल में दिल्ली की शहनाज कादरी, कौशर विजारत व ज्योति, गुजरात अहमदाबाद की शेख अंजुमन बानो व भावना बेन, तमिलनाडु की थिलगावथी, हैदराबाद की बी रजनी, बिहार की शकुंतला ठाकुर, राजस्थान की अमनदीप कौर, छत्तीसगढ़ की शिल्पी समादार, रांची की तारामनी साहू के अलावे उत्तराखंड के प्रताप सिंह नेगी, राजस्थान के प्रेम और चेन्नई के दिनेश भाई शामिल हैं. दिल्ली से चला यह दल मेरठ, बरेली, कानपुर, लखनऊ, बनारस जैसे विभिन्न शहरों से होता हुआ झारखंड के हजारीबाग के बाद गिरिडीह पहुंचा. दिल्ली की शहनाज कादरी ने बताया कि पूरे देश में अमन और शांति का पैगाम लेकर देश भर की संघर्षशील महिलाएं पांच जत्थों में कश्मीर, कन्याकुमारी, असम, केरल और दिल्ली से पांच रूटों में बंटकर पिछले 20 सितंबर से देश के विभिन्न शहरों का भ्रमण करके अमन की बातें कर रही हैं. इस समानता यात्रा का समापन 13 अक्टूबर को दिल्ली में होगा. जहां सभी जत्था दल आपस में मिलेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: