Education & CareerJharkhandRanchi

झारखंड : कई इंजीनियरिंग कॉलेजों को नहीं मिलेगी दो वर्ष की मान्यता, खतरे में सात हजार से ज्यादा छात्रों का भविष्य

विज्ञापन

Ranchi : झारखंड के एक दर्जन इंजीनियरिंग कॉलेजों को दो वर्ष की मान्यता सरकार नहीं देगी. बीआइटी सिंदरी और सीआइटी टाटीसिलवे को छोड़ अन्य किसी भी इंजीनियरिंग कॉलेज को 2016-17 और 2017-18 की मान्यता नहीं मिलेगी.

झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी की तरफ से इन कॉलेजों को 2018-19 की मान्यता दे दी गयी है. कॉलेजों की मान्यता नहीं मिलने से 2016-17 और 2017-18 में एडमिशन लेने वाले सात हजार से अधिक छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है.

ये अपने अगले सत्र में प्रमोशन के लिए परीक्षा भी नहीं दे पायेंगे. झारखंड सरकार के उच्चतर और तकनीकी शिक्षा विभाग की तरफ से इन इंजीनियरिंग कॉलेजों की मान्यता सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आलोक में रोकी गयी है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीइ) से संबद्धता लेने के अलावा इंजीनियरिंग कॉलेजों को राज्य सरकार की टेक्निकल यूनिवर्सिटी से मान्यता लेना जरूरी है.

advt

इसे भी पढ़ें- समय पर ऑफिस नहीं पहुंचते हैं झारखंड के सीनियर आइपीएस

विश्वविद्यालयों से भी मान्यता लेना जरूरी

झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी के कुलसचिव एसबी साहू का कहना है कि विभागीय मंत्री डॉ. नीरा यादव के आदेश के आलोक में सभी विश्वविद्यालयों ने मान्यता देने की प्रक्रिया पर रोक लगा दी है. इंजीनियरिंग कालेजों को संबद्ध विश्वविद्यालयों से भी मान्यता लेना जरूरी है.

राज्य में कोल्हान विवि, सिद्धो कान्हू मुरमू विवि, नीलांबर पीतांबर यूनिवर्सिटी, रांची विश्वविद्यालय और विनोबा भावे विश्वविद्यालय से झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी की मान्यता के बाद संबद्धता लेना जरूरी है. इसके लिए तय शुल्क का भुगतान भी जरूरी है.

इसे भी पढ़ें- दुमका : पांच लाख की इनामी हार्डकोर महिला नक्सली पीसी दी समेत 6 नक्सलियों ने किया सरेंडर

इंजीनियरिंग कालेजों को संबंधित विश्वविद्यालयों के कुलपति से यह संबद्धता प्राप्त करनी है. सभी संबंधित विश्वविद्यालयों को 2016-17 और 2017-18 की मान्यता, संबद्धता को लेकर सरकार की अनुमति के बगैर कोई कार्रवाई करने पर रोक लगा दी गयी है. रांची यूनिवर्सिटी से सिर्फ सीआइटी टाटीसिलवे को ही संबद्धता मिली हुई है.

इसे भी पढ़ें- दर्द-ए-पारा शिक्षक: उधार बढ़ने लगा तो बेटों ने पढ़ाई छोड़कर शुरू की मजदूरी, खुद भी सब्जियां बेच…

झारखंड के इंजीनियरिंग कालेज, जिन्हें दो वर्ष की मान्यता नहीं मिलेगी

इंजीनियरिंग कॉलेज दाखिले की सीट
यूसेट हजारीबाग 252
राजकीय अभियंत्रण कॉलेज, दुमका 315
राजकीय अभियंत्रण कॉलेज, चाईबासा 315
राजकीय अभियंत्रण कॉलेज, रामगढ़ 315
डीएवी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी 252
नीलय एजुकेशनल ट्रस्ट, रांची 378
रामचंद्र चंद्रवंशी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, पलामू 442
आरटीसी इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रांची 504
मेरीलैंड इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट 160
केके कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग 441
आरवीएस कालेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी 630
गोविंदराम कटारुका इंजीनियरिंग कॉलेज एंड मैनेजमेंट —-

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close