JharkhandMain SliderRanchiTOP SLIDER

नशेड़ी, रिश्वतखोर, कुत्ते की पूंछ, दलाल, मेंटल, चोट्टा ….और क्या-क्या न कह डाला!

उपचुनाव के जंग में झारखंड के नेताओं ने उड़ा दी भाषाओं की धज्जियां

Ranchi: बेरमो और दुमका विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने पिछले दो दिनों में एक-दूसरे का चीरहरण कर डाला है. आरोपों-प्रत्यारोपों के बीच भाषाई मर्यादा की धज्जियां उड़ा दी गयी हैं. पूर्व सीएम रघुवर दास दुमका की चुनावी सभाओं में झामुमो को चोट्टा कह चुके हैं. भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने चुनावी सभा में झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन का नाम लेकर कहा कि उन्होंने झारखंड आंदोलन के नाम पर कांग्रेस से पैसे लिये. जवाब में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने पूरी भाजपाई टीम को चोट्टा और बाबूलाल को सत्ता का दलाल कह दिया है. झामुमो के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने रघुवर दास को नशेड़ी आचरण वाला बताते हुए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो से उनकी जांच की मांग कर डाली है. मनोचिकित्सा संस्थान से उनके इलाज कराये जाने की भी बात कही है.

इसे भी पढ़ेः 40 हजार में बेची गयी झारखंड की बेटी को पुलिस ने कराया आजाद

रघुवर और बाबूलाल के बोल

दुमका सीट से एनडीए कैंडिडेट के तौर पर पूर्व मंत्री लुईस मरांडी खड़ी हैं. भाजपा ने उनके लिए चुनावी प्रचार की कमान संभालने को पूर्व सीएम रघुवर दास और बाबूलाल मरांडी को भेजा है. रघुवर ने वहां एक चुनावी सभा में झामुमो पर सवाल उठाये थे. कहा था कि संताल की बदहाली के लिये यही पार्टी दोषी है. चोट्टा सब झारखंड पर राज कर रहा है. मंगलवार को मसलिया के एक सभा में बाबूलाल ने झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन को झारखंड आंदोलन में धोखेबाजी का आरोप लगाया. कहा कि 1947 से 1998 तक कांग्रेस का ही राज देश में रहा. शिबू सोरेन ने उससे लड़कर अलग राज्य लेने की बजाये रिश्वत ली. लालू अलग राज्य के तौर पर झारखंड बनने नहीं देना चाहते थे. उनके साथ भी शिबू उड़नखटोले में घुमते रहे.

इसे भी पढ़ेः रात में सुनसान जगहों पर जायेंगी लड़कियां तो सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस की नहीं: डीजीपी

advt

रघुवर को पार्टी से बाहर करें जेपी नड्डा

रघुवर दास और बाबूलाल मरांडी पर झामुमो ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में हमला बोला. प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि रघुवर पहले सत्ता की मदहोशी में कुछ भी बोलते थे. हाथी उड़ेगा तो झारखंड उड़ेगा..जैसे डायलॉग देते थे. यहां तक कि हेमंत सोरेन पर भी उन्होंने आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया था. हेमंत ने उन पर केस किया था औऱ बाद में वापस ले लिया था. पर वे नहीं सुधरे हैं. अब भी वे नशे में बात करते हुए झारखंडियों को चोट्टा बोल रहे हैं. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो उनके इस आचरण की जांच करे. उनका इलाज सीआइपी में किया जाये. सरकार अगर खर्च वहन ना करे तो झामुमो करेगा. भाजपा के केंद्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अपनी कमिटी से रघुवर जैसे नेता को बाहर करें.

इसे भी पढ़ेः लालू ने जमानत मांगी, अगर मंजूर हुई तो निकल जायेंगे जेल से बाहर

बाबूलाल सहित पूरी भाजपाई टीम पर हमला

झामुमो के अनुसार अलग राज्य के लिए शिबू सोरेन ने संघर्ष किया है. सुप्रियो ने कहा कि 2000 में जब इधर राजद की सरकार थी तब विधानसभा में उनके प्रयासों से अलग राज्य का प्रस्ताव पास कराया था. पीएम अटल बिहारी वाजपेयी से वनांचल का नाम बदलवाकर इसे झारखंड कराया था. सुप्रियो भट्टाचार्य के मुताबिक 15 नवंबर, 2000 को आधी रात को सड़कों पर फोर्स उतारकर चोर दरवाजे से बाबूलाल ने शपथ ली थी. वे सत्ता की दलाली करते रहे हैं. पिछली बार उनके 6 विधायक थे जिसे उन्होंने बेचा. अबकी भी जनादेश मिलने के बाद खुद को भाजपा के हाथों बेच दिया है. यह आचरण ही चोट्टापन है. रघुवर और बाबूलाल जैसे नेताओं के कारण यूपीए कैंडिडेट 50,000 वोटों के फासले से जीतेंगे.

इसे भी पढ़ेः पलामू: रेलवे ट्रेक के किनारे बाइक को मालगाड़ी ने लिया चपेट में, भांजे ने तोड़ा दम- मामा गंभीर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: