न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड खादी बोर्ड बेकार रेशम के धागों से बना रहा राखी

20 से 35 रूपया के बीच होगी राखी की कीमत

516

Jamshedpur : झारखंड राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड ने बेकार रेशम के धागों से राखी का निर्माण का काम शुरू किया है. राज्य खादी बोर्ड के सदस्य कुलवंत सिंह बंटी ने बताया कि करीब 50 प्रशिक्षित महिला जमशेदपुर में इस समय रेशम के धागों से राखी बना रही हैं. अमदा खादी केन्द्र का दौरा करने के बाद बंटी ने बताया कि राखी बनाने के लिए रेशम अमदा खादी केन्द्र और सेराइकेला-खारसवान जिले में कुछ और जगहों से बेकार धागा एकत्र किया गया है.

इसे भी पढ़ें- विदिशा हत्याकांड : छात्राओं के साथ हाई क्यू इंटरनेशनल स्कूल में अनैतिक होता था

20 से 35 रूपया के बीच होगी राखी की कीमत

26 अगस्त को होने वाले ‘रक्षा बंधन’ में अभी करीब एक महीना शेष है और बंटी को भरोसा है कि इससे काफी पहले राखी बाजार में आ जाएगी. उन्होंने बताया कि राज्य में खादी केंद्रों के बाहर राखी उपलब्ध होगी और इनकी कीमत 20 से 35 रूपया के बीच रखी जाएगी.

इसे भी पढ़ें- निजी दौरे पर विदेश गये अधिकारियों पर लगा जुर्माना

कांवड़ियों के लिए विशेषतौर पर खादी का वस्त्र बनाने का भी निर्णय

बोर्ड ने ‘सावन’ (जुलाई-अगस्त) के दौरान देवघर स्थित बैद्यनाथ मंदिर में भगवान शिव को पवित्र जल चढ़ाने के लिए जाने वाले कांवड़ियों के लिए विशेषतौर पर खादी का वस्त्र बनाने का भी निर्णय लिया है. इससे पूर्व झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने जोर देकर कहा था कि सरकार हस्तकला को प्राथमिकता दे रही है और देश का पहला खादी मॉल जल्द ही रांची में खुलेगा.

इसे भी पढ़ें- घोषणा कर भूल गयी सरकार-28 जुलाई : ना अपोलो खुला, ना फल-सब्जी वालों को अलग जगह मिली, ना विधि व्यवस्था व अनुसंधान अलग हुआ

इसे भी पढ़ें- अधिकारी सतर्क रहें, थोड़ी सी लापरवाही राज्‍य की छवि खराब कर सकती है : रघुवर दास

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: