Crime News

#Jharkhand: नक्सलियों के नाम पर पिछले 20 दिनों में बीडीओ, डॉक्टर, व्यावसायी और अधिकारी से मांगी गयी रंगदारी

Ad
advt

Ranchi: झारखंड में नक्सलियों के नाम पर रंगदारी मांगने का खेल जारी है. पिछले 20 दिनों की बात करें तो इस दौरान मुसाबनी के बीडीओ, लोहरदगा के डॉक्टर और व्यावसायी और रांची के एचईसी के कार्मिक एवं प्रशासनिक विभाग अधिकारी से नक्सली के नाम पर रंगदारी मांगने की घटना सामने आ चुकी है.

रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी का फरमान सुनाया गया है. पिछले दिनों के दौरान जितने भी लोगों से रंगदारी मांगी गयी इन सभी घटनाओं में पुलिस जांच करने में लगी हुई है कि नक्सलियों के द्वारा रंगदारी की मांग की गयी या किसी आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के द्वारा.

advt

इसे भी पढ़ें – #PmModi जनसभा की तैयारी का टेंडर 6 सिंतबर को खुलेगा और प्रभात तारा मैदान में 4 तारीख से शुरू हो गया काम

अपराधी भी नक्सलियों के नाम पर मांग रहे हैं रंगदारी

झारखंड में भाकपा माओवादी, पीएलएफआइ, जेजेएमपी और टीपीसी जैसे नक्सली संगठनों के नाम पर झारखंड में सक्रिय आपराधिक गिरोह दहशत फैलाने का काम कर रहे हैं.

advt

झारखंड में ये आपराधिक गिरोह नक्सली संगठन के नाम पर वाहनों में आगजनी, फायरिंग और पिटाई जैसी घटनाओं को अंजाम देकर लेवी के लिए दहशत फैलाने का काम करते हैं और लेवी वसूलने में कामयाब भी रहते हैं.

झारखंड में अपराधी प्रवृत्ति के युवक अपने-अपने क्षेत्रों में गिरोह बना कर सक्रिय हैं. इस तरह के आपराधिक गिरोह व्यवसायियों व ठेकेदारों से लेवी की वसूली करते हैं.

इसे भी पढ़ें – राज्य में कैसे होगा #CrimeControl, जब लॉ एंड ऑर्डर संभालने में लगे हों सिर्फ 34019 पुलिसकर्मी

मुसाबनी के बीडीओ से हर महीने 5 लाख की मांगी गयी रंगदारी

17 अगस्त को जमशेदपुर के मुसाबनी प्रखंड के बीडीओ संतोष कुमार गुप्ता को नक्सलियों के नाम एक धमकी भरा खत मिला था. जिसमें हर महीने बीडीओ संतोष कुमार गुप्ता को पांच लाख रुपये लेवी देने को कहा गया था.

कुंदन पाहन के नाम पर एचईसी प्लांट के कार्मिक एवं प्रशासनिक विभाग के अधिकारी को दी गयी धमकी

18 अगस्त को एचईसी एचएमटीपी प्लांट के कार्मिक एवं प्रशासनिक विभाग के अधिकारी नारायण टोप्पो को कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन के नाम पर जान से मारने की धमकी दी गयी थी. नारायण टोप्पो ने इस संबंध में धुर्वा थाने में शिकायत की थी.

उन्होंने पुलिस को बताया कि 16 अगस्त को वह प्लांट की कैंटीन में थे. दोपहर 12:42 बजे उनके मोबाइल नंबर पर फोन आया. फोन करनेवाले ने खुद को बुंडू निवासी बताते हुए कहा कि वह कुंदन पाहन गिरोह का आदमी है. उनपर रंगदारी करने का आरोप लगाते हुए अंजाम भुगतने की धमकी दी. कहा मार कर गायब कर देंगे. गौरतलब है कि कुंदन पाहन सरेंडर करने के बाद से जेल में बंद है.

रंगदारी के लिए दुकान पर की फायरिंग

19 अगस्त को लोहरदगा जिले के सदर थाना अंतर्गत हरमू रोड स्थित वर्मा सीमेंट दुकान में घुस कर पीएलएफआइ नक्सलियों ने फायरिंग की और संगठन के नाम से लेवी संबंधी एक चिट्ठी दुकान में बैठी राजेंद्र वर्मा की पत्नी रीना वर्मा को देकर चलते बने. उनकी संख्या छह बतायी जा रही थी. गोलीबारी और 40 लाख रुपये की रंगदारी मांगने की घटना के बाद दुकान में बैठी रीना वर्मा ने अपने पति राजेंद्र वर्मा और लोहरदगा सदर थाना पुलिस को मामले की सूचना दी थी.

डॉक्टर से मांगी गयी पांच लाख की रंगदारी

2 सितंबर को लोहरदगा किस्को थाना क्षेत्र के नवाडीह गांव में डॉक्टर से माओवादियों द्वारा पांच लाख रुपये रंगदारी मांगने का मामला सामने आया सूरजबली प्रजापति पिछले 20 साल से डॉक्टरी की निजी प्रैक्टिस कर रहे हैं. वे अपने पूरे परिवार के साथ रहते हैं.

सूरजबली ने बताया कि बीते एक सितंबर को लगभग 4:30 बजे एक फोन आया. इसमें माओवादियों के नाम पर पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगी गयी. कहा गया कि राशि पेशरार लाकर पहुंचा देना. उन्होंने बताया है कि राशि नहीं के एवज में पूरे परिवार वालों को अगवा कर जान से मारने की धमकी दी गयी.

इसे भी पढ़ें – #MarutiSuzuki  : मंदी से उबरने की कवायद,  कारों पर बंपर डिस्काउंट ऑफर ,  एक लाख तक की छूट

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: