न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में सक्रिय कुख्यात मानव तस्कर प्रभा मुनि ने कबूला अपना जुर्म, भेजी गयी जेल

261

Ranchi / Simdega : झारखंड में सक्रिय कुख्यात मानव तस्कर आरोपी प्रभा मुनि ने अपना कबूल कर लिया है. जिसके बाद सिमडेगा पुलिस ने प्रभा को जेल भेज दिया. गौरतलब है कि 27 सितंबर को पुलिस के द्वारा प्रभा मुनि को दिल्ली से रांची लाया गया था. उसपर मानव तस्करी के कई आरोप हैं.

सिमडेगा एसपी ने दी जानकारी

सिमडेगा के वरीय पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कांफ्रेंस कर प्रभा मुनि द्वारा जुर्म कबुले जाने की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि प्रभा मुनि मिंज लगभग 15 सालों से मानव तस्करी का धंधा कर रही थी. उसपर तस्करी के कई संगीन इल्जाम थे. हांलाकि अब उसने अपना जुल्म कबुल कर लिया है. इसलिए पुलिस ने उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया.

इसे भी पढ़ें- IL&FS संकट : 1,500 नॉन-बैंकिंग फाइनैंशल कंपनियों के रद्द हो सकते हैं लाइसेंस, झारखंड पर भी पड़ेगा असर

अपनी गिरफ्तारी से बौखलायी हुई थी प्रभा

मानव तस्कर प्रभा को जब 27 सितंबर को रांची स्टेशन लाया गया तो उसने मीडिया के कैमरे को तोड़ने की कोशिश की थी. रांची स्टेशन पर मीडियाकर्मियों ने जब प्रभा मुनि की फोटो लेनी चाही तो प्रभा ने उनमें से एक के कैमरे पर अपना हाथ चला दिया. जिससे कि यह अनुमान लगाया जा सकता है कि प्रभा किस कदर अपनी गिरफ्तारी से बौखलायी हुई थी.

दिल्ली में पूछताछ के बाद लायी गयी थी झारखंड

23 सितंबर की देर शाम एटीएस ने प्रभा मुनि को दिल्ली में गिरफ्तार किया था. जिसके बाद उससे तस्करी के मामलों के लेकर पूछताछ की गयी थी. वहीं पूछताछ के बाद प्रभा को दिल्ली से 27 सितंबर को रांची लाया गया था. गौरतलब है कि प्रभा सिमडेगा जिले में कई सालों मानव तस्करी का करती आ रही थी. उसपर सैंकड़ों युवतियों की तस्करी का आरोप है. इसी को लेकर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार किया.

इसे भी पढ़ें- फिर किनारे किये गये काबिल अफसर, काम न आया भरोसा- झारखंड छोड़ रहे आईएएस

palamu_12

दिल्ली के टैगोर गार्डन से हुई थी गिरफ्तारी

प्रभा मुनि की गिरफ्तारी दिल्ली के टैगोर गार्डन से हुई थी. मिली जानकारी के अनुसार प्रभा मुनि दिल्ली में अपनी पहचान छुपाकर रह रही थी. जिसकी सूचना दिल्ली पुलिस को मिली. दिल्ली पुलिस और एटीएस ने टीम गठीत कर मिली सूचना के आधार पर छापेमारी की और प्रभा को गिरफ्तार किया.

सैकड़ों युवतियों को बेचने के आरोप में जारी हुआ था गिरफ्तारी वारंट

प्रभा मुनि के ऊपर सिमडेगा की सैकड़ों युवतियों को दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में बचने का आरोप था. वह युवतियों को दिल्ली के साकेत नगर, नोएडा के मानसा, संगरूर, मलेर कोटला, नवांशहर, लुधियाना व अन्य इलाकों में बेचा करती थी. प्रभा बड़े शहरों में काम दिलाने के नाम पर मासूम लड़कियों को बहला फुसलाकर ले जाया करती थी. और फिर उन्हें बेच दिया करती थी. वह जिन युवतियों को काम दिलाने के नाम पर ले जाया करती थी वह कभी भी वापस घर नहीं आ पाती थीं.

इसे भी पढ़ें- NEWS WING IMPACT:  प्रशासन ने की सख्ती, पाकुड़ में बंद हुआ अवैध बालू उठाव

प्लेसमेंट एजेंसी के नाम पर तस्करी का धंधा चलाती थी प्रभा

प्रभा मुनि ने रोजगार के नाम पर कई प्लेसमेंट एजेंसियां खोल रखी थी. वह इन एजेंसियों के माध्यम से झारखंड के ग्रामीण आदिवासी बहुल इलाकों की युवतियों को महानगरों के सपने दिखाया करती थी. उन्हें पैसे का प्रलोभन दिया करती थी. और जो भी उसके इस झांसे में आ जाती थी उसे वह बेच दिया करती थी.

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: