JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

झारखंड : सबूत के साथ हाईकोर्ट के अधिवक्ता ने ED को लिखा पत्र, कहा-दुमका में हो रहे अवैध पत्थर माइनिंग पर करें कार्रवाई

Ranchi : दुमका जिले में हो रहे अवैध पत्थर माइनिंग पर रोक लगाने को लेकर ED को पत्र लिखा गया है. इस पत्र में मीडिया रिपोर्टस के साथ कई साक्ष्य भी दिए गए हैं. यह पत्र हाईकोर्ट के अधिवक्ता राम सुभाग सिंह ने लिखा है.
उन्होंने न केवल ED को पत्र लिखा है, बल्कि अपने पत्र के माध्यम से राज्य के चीफ सेक्रेटरी का भी ध्यान आकर्षित किया है. उन्होंने ED को लिखे अपने पत्र में अवैध माइनिंग और सेल कंपनियों के संचालन को लेकर हाईकोर्ट में चल रहे सीएम के मामले का भी रेफरेंस दिया है.

पत्र में उन्होंने कहा है कि ED इस पर अपना ध्यान आकृष्ट करते हुए कार्रवाई. उन्होंने यह भी कहा है कि आवश्यकता पड़ने पर हाईकोर्ट में हस्तक्षेप याचिका भी दायर करेंगे. पत्र में जिक्र है कि दुमका में अवैध तरीके से पत्थर खदानों में खुदाई की जा रही है और पत्थर माफिया के द्वारा अवैध कमाई की जा रही है.

इसे भी पढ़ें:झारखंड सरकार पर भड़की भाजपा, कहा- रघुवर दास की गिरफ्तारी को तैयार नहीं होने पर पुलिस पदाधिकारियों का किया तबादला

ram janam hospital
Catalyst IAS

उन्होंने अपने पत्र में जिक्र किया है कि राज्य में एमएमडीआर एक्ट के तहत जो भी पत्थर माइनिंग चल रहे थे उनका लीज 2020 में ही खत्म हो गया है.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

इसके बाद भी राज्य सरकार ने गलत तरीके से पत्थर माइनिंग लीज को मार्च 2022 तक बढ़ा दिया. उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि राज्य में माइनिंग की नीलामी को लेकर कोई नियमावली है ही नहीं.

इसे भी पढ़ें:XLRI Placement : एक्सएलआरआइ के एक्सपीजीडीएम के प्लेसमेंट में 40 प्रतिशत की बढ़ोतरी, 26.56 लाख के औसत पैकेज पर 112 विद्यार्थी हुए लॉक, अधिकतम 44.74 लाख रुपये का ऑफर

Related Articles

Back to top button