न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

देश का पहला सर्वाइकल कैंसर मुक्त राज्य बनेगा झारखंड: स्वास्थ्य मंत्री

40

Ranchi: स्वास्थ्य विभाग और वीमेंस डॉक्टर विंग आइएमए झारखंड के द्वारा सदर अस्पताल परिसर में मेगा महिला स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया. शिविर में स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी मुख्य अतिथि के रुप में शामिल हुए. मौके पर डिजिटल वीडियो कॉलपोस्कोप एवं क्रायो सेट का उद्घाटन किया गया. स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि‍ सर्वाइकल कैंसर का इलाज झारखंड में शुरू हो चुका है. अबतक 15 से 20 हजार महिलाओं को दवा दी गयी है. उन्होंने बताया कि एक साल के अंदर झारखंड सर्वाइकल कैंसर का इलाज में नंबर एक पर होगा. वहींं वीमेंस डॉक्टर विंग आईएमए झारखंड की सदस्य डॉ भारती कश्यप ने कहा कि सर्वाइकल कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर के लिए त्रिआयामी अभियान चलाया जा रहा है. हॉस्पिटल में सर्वाइकल कैंसर की जांच व उपचार के लिए नयी मशीनें लगायी गयी है.

इसे भी पढ़ें: धनतेरस में इन राशियों वाले पार्टनर को ‘सोना’ गिफ्ट करना पड़ सकता है महंगा

महिलाओं में 44.2% ब्रेस्ट व सर्वाइकल कैंसर

स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि‍ भारत में महिलाओं में 44.2% ब्रेस्ट व सर्वाइकल कैंसर पाये जाते हैं. भारत में हर घंटे 7 महिलाओं की मौत सर्वाइकल कैंसर से और ब्रेस्ट कैंसर से 10 महिलाओं की मृत्यु होती है. डॉ. भारती कश्यप महिला रोग विशेषज्ञों को प्रशिक्षित कर राज्य में सर्वाइकल कैंसर उन्मोलन में बहुत बड़ी प्रशिक्षित टीम तैयार कर रही हैं. सरकार भी इस में सहयोग कर रही है. झारखंड सर्वाइकल कैंसर मुक्त पहला राज्य बनेगा ऐसा हमें पूरा विश्वास है.

इसे भी पढ़ें: गिरी हुई पार्टी है भाजपा, भगवान राम उनके लिए सत्ता पाने का रास्ता : डॉ अजय कुमार

जांच में 60% महिलाओं के ग्रीवा में इंफेक्‍शन

इस शिविर में आयी महिलाओं का मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ कनिका गुप्ता की टीम द्वारा इलाज किया गया. इसके साथ ही रांची, रामगढ़, खूंटी एवं लोहरदगा की स्त्री रोग विशेषज्ञों को सर्वाइकल प्री-कैंसर की जांच और उपचार का प्रशिक्षण भी दिया गया. कैंप में लगभग 300 मरीजों ने जांच कराया. इनमें से 60% मरीजों में गर्भाशय ग्रीवा (सर्विक्स) में सूजन व इंफेक्शन पाया गया. तो वहीं  04 महिलाओं में सर्वाइकल प्री-कैंसर पाया गया, जिन्हें कैंप स्थल पर ही कोल्पोस्कोप गाइडेड क्रायो ट्रीटमेंट दे कर उन्हें कैंसर से मुक्त किया गया. शिविर में आने वाली सभी महिलाओं को 1 महीने की आयरन फोलिक एसिड एवं कैल्शियम की गोलियां मुफ्त बांटी गयी.

इसे भी पढ़ें- मेरे परिवारवालों ने मुझे नकार दिया, मैं घुट-घुटकर नहीं जी सकता : तेजप्रताप

16 जिलों में हो चुका आईएमए का विस्तार

डॉ. भारती कश्यप ने बताया की वुमेन डॉक्टर्स विंग आईएमए का अन्य जिलों में भी विस्तार किया जा रहा है. अभी तक इस का विस्तार 16 जिलों में कर दिया है. अभी हम रांची, रामगढ़, खूंटी, लोहरदगा, कोडरमा, हजारीबाग, गिरिडीह एवं चतरा जिला में शाखा स्थापना कर रहे हैं. जिसका मकसद पूरे राज्य की महिलाओं को इस अभियान का अधिकाधिक लाभ दिलाना है. महिला डॉक्टर विंग अपने सदस्यों और अन्य विशेषज्ञों के माध्यम से महिला चिकित्सकों को इसका प्रशिक्षण भी दे रही हैं.

इसे भी पढ़ें- रांची में गैंगवार में कुख्यात अपराधी सोनू इमरोज की गोली मारकर की हत्या

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: