JharkhandLead NewsRanchi

झारखंड : नई दिल्ली परेड में शामिल होने वाले बच्चों से मिले राज्यपाल, कहा- एनसीसी से अनुशासन की भावना प्रबल होती है

Ranchi : राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि देशभक्ति की भावना जागृत करना हो तो एनसीसी को अनिवार्य कर देना चाहिये. एनसीसी से सेवा भाव की भावना जागृत होती है. हमारे बच्चों में अनुशासन की भावना प्रबल होती है. राज्यपाल सोमवार को राजभवन में 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में आयोजित परेड कार्यक्रम में भाग लेने वाले कैडेट्स को संबोधित कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS :  केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, सड़क हादसे में मौत पर परिजनों को मिलेगा 2 लाख का मुआवजा

परेड में शामिल होकर बच्चों ने प्रदेश का नाम रोशन किया हैः

Catalyst IAS
ram janam hospital

राज्यपाल ने कहा कि राज्य के लिए गौरव व प्रसन्नता का विषय है कि 26 जनवरी, 2022 को परेड में 20 कैडेट्स ने भाग लेकर अपना एवं अपने प्रदेश का नाम रोशन किया है. उन्होंने कहा कि वे 26 जनवरी, 2022 के परेड के बाद झारखंड से भाग लेने वाले कैडेट्स से मिलना चाहते थे एवं कार्यक्रम करना चाहते थे. लेकिन सूचना मिली कि सभी कैडेट्स घर वापस नहीं लौटे हैं.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

उन्होंने कैडेट्स से अपनी मातृभाषा व राष्ट्रभाषा का सदा सम्मान व प्रेम करने के लिये कहा. राज्यपाल ने कहा कि जब विदेशों में हम प्रतिनिधिमंडल में जाते हैं तो दोनों देश के सदस्य अपनी-अपनी भाषा बोलते हैं.

इसे भी पढ़ें:विधायक फंड के 649 करोड़ का हिसाब अब तक बाकी, एक बार फिर एकमुश्त निकासी की छूट

ट्रैफिक सिग्नल तोड़ने, रेलवे क्रॉसिंग में फाटक बंद होने पर झुक कर पार होना यहां की प्रवृत्ति

राज्यपाल ने कहा कि हमारे यहां कुछ ऐसी प्रवृत्ति भी हैं कि ट्रैफिक सिग्नल तोड़ने, रेलवे क्रॉसिंग में फाटक बंद होने पर झुक कर पार होने पर बहादुरी समझते हैं, जो कि गलत है. ऐसा करने पर अभिभावकों को समझाना चाहिये. मौके पर कैडेट्स ने भी एनसीसी से जुड़ने के बाद जीवनशैली में आये परिवर्तन के बारे में अपने अनुभव साझा किये.

राज्यपाल ने गणतंत्र दिवस समारोह, 2022 के अवसर पर मोरहाबादी में आयोजित झांकी, परेड एवं बैंड में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले को सम्मानित किया.

इसे भी पढ़ें:यूक्रेन में फंसी अर्पिता पहुंची रांची, अब तक चार की हुई वापसी

Related Articles

Back to top button