JharkhandKhas-KhabarRanchi

झारखंड सरकार ने मजदूरों की सहायता के लिए शुरू किया टोल फ्री नम्बर, 5 घंटे में 10,000 मजदूर हुए पंजीकृत

Ranchi :  श्रम विभाग के द्वारा जारी की गयी 10 हेल्प लाइन फोन की घंटियां रुकने का नहीं रही हैं. कॉल सेंटर में 600 से अधिक फोन आ चुके हैं. जिसमें 10000 से अधिक मजदूरों का डेटाबेस संग्रह किया किया जा चुका है. दूसरे राज्यो में फंसे मजदूर में सबसे अधिक संख्या दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल जैसे राज्यों से है. यहां से मजदूर सरकार से लगातार दुहाई दे रहे हैं.

रिस्पांस टीम के द्वारा जहां मजदूर फंसे हैं, उसी स्थान पर भोजन पानी उपल्बध कराया जा रहा है. फोन करने वाले कई मजदूरों के पास लॉकडान के चार दिन के बाद भोजन और रहने का ठिकाना भी नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः नोएडा की रिहाइशी सोसायटी में एक दिन में मिले 5 कोरोना पॉजिटिव केस, सील किये गये दो इलाके

advt

नेपाल हाउस में बना है सहायता केन्द्र


देर से ही सही रिस्पांस टीम ने शनिवार से नेपाल हाउस में काम करना आरंभ कर दिया है. जहां दूसरे राज्य में फंसे मजदूर निरंतर फोन कर रहे हैं. श्रम, रोजगार और प्रशिक्षण विभाग ने कोविड-19 रिस्पांस टीम शनिवार से शुरू किया है. टीम को पैक्स नेटवर्क फिया फाउंडेशन वॉलंटरी सहयोग कर रहा है.

फिया फाउंडेशन के दस वॉलंटीयर फोन करने वाले मजदूरों का डाटा बेस तैयार कर रहे हैं. जिसमें कॉल रजिस्टर करना, ट्रांजिट प्वाइमट, रहने की जगह की पहचान करना और अन्य मुद्दों को सूचीबद्ध करना शामिल है.

हर दिन कॉल डिटेल को राज्य और जिलावार वर्गीकृत किया जा रहा है. जिसे राज्य सरकार से तत्काल कार्रवाई के लिए संबंधित राज्य को साझा किया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः #CoronaUpdate: दिल्ली और NCR में फंसे झारखंडियों के लिए हेल्पलाइन सेवा जारी, नंबर है 08826652716,9810015104

adv

जॉनसन तोपनो, फिया फाउंडेशन के स्टेट हेड ने कहा

सुबह 12 बजे तक पूरे देश से करीब 300 से अधिक फोन आये. जिसमें 3000 से अधिक मजदूरों का डाटाबेस तैयार किया गया. इस प्रक्रिया में झारखंड के श्रमिक कहां फंसे हुए हैं, उन्हें जानने का प्रयास किया जा रहा है.

इस डाटा को राज्य सरकार से शेयर किया जाएगा. सरकार के द्वारा 15 अप्रैल तक जो जहां है उन्हें वहां भोजन पानी उपलब्ध कराने के लिए झारखंड सरकार के प्रतिनिधि बात करेंगे.

क्या कहते हैं श्रम विभाग के सचिव राजीव अरुण एक्का

श्रम विभाग द्वारा विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन में फंसे मजदूरों को उसी स्थान पर रहने के लिए कहा जा रहा है. पदाधिकारियों द्वारा जहां मजदूर फंसे हैं, उस राज्य की सरकार से बात कर मजदूरों को सहायता उपलब्ध कराना है.

विभिन्न राज्य सरकारों को हम वहां डाटाबेस उपलब्ध कराएंगे. संबंधित राज्य (वर्तमान प्रवास के बिंदु पर) बुनियादी सेवाएं- स्वास्थ्य, आश्रय और खाद्य आपूर्ति प्रदान करने का कार्य कर रही हैं.

इसे भी पढ़़ेंः #CoronaUpdate: सोशल डिस्टेंसिंग के लिए पलामू प्रशासन ने खुले मैदान में शिफ्ट की सब्जी मंडी, दुकानदारों में रोष

बाहर के मजदूरर इन टोल फ्री नंबरों पर सहयोग के लिए फोन कर सकते हैं

0651-2490037

0651-2490052

0651-2490055

0651-2490058

0651-2490083

0651-2490092

0651-2490104

0651-2490125

0651-2490127

0651-2490128

इसे भी पढ़ेंः कोरोना से मुकाबले को 14वें वित्त की राशि पंचायतों में खर्च करने की मुखिया संघ ने सीएम से की मांग, पीएम से भी आग्रह

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button