Main SliderRanchi

झारखंड सरकार ने पारा शिक्षकों का बढ़ाया मानदेय, ट्रेंड और TET पास को मिलेंगे 11-12 हजार रुपये प्रतिमाह

Ranchi: झारखंड सरकार और पारा शिक्षकों के बीच की लड़ाई में सरकार बैकफुट पर नजर आ रही है. पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर आंदोलनरत 65 हजार से अधिक पारा शिक्षकों के मानदेय में सरकार ने बढ़ोत्तरी कर दी है.

दो श्रेणियों में बढ़ा मानदेय

18वें स्थापना दिवस समारोह के मौके पर पारा शिक्षकों द्वारा मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाये जाने और समारोह स्थल पर आंदोलनकारियों के खिलाफ की गयी कार्रवाई के बाद सरकार ने यू टर्न ले लिया है. झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के परियोजना निदेशक उमा शंकर सिंह के हस्ताक्षर से पारा शिक्षकों के बढ़े हुए मानदेय संबंधी आम सूचना बीती रात जारी की गयी.

Catalyst IAS
ram janam hospital

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

दो श्रेणियों में पारा शिक्षकों को बढ़ा हुआ मानदेय मिलेगा. इसमें कक्षा एक से लेकर कक्षा पांचवीं तक और छठी से लेकर आठवीं कक्षा में अध्यापन कार्य करनेवाले पारा शिक्षकों की अलग-अलग श्रेणी शामिल की गयी है. प्रशिक्षित और टेट पास पारा शिक्षकों और प्रशिक्षित पारा शिक्षकों को ही बढ़ा हुआ मानदेय सरकार देगी. दो दिन पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने सभी पारा शिक्षकों से हड़ताल समाप्त कर काम पर वापस लौटने की अपील की थी. इससे पहले सरकार ने आंदोलन कर रहे पारा शिक्षकों से 20 नवंबर तक काम पर लौटने की मांग की थी. सरकार के रवैये को लेकर पारा शिक्षकों ने अपने आंदोलन को तेज करते हुए विधायक, सांसद और मंत्रियों का आवास अनिश्चितकाल के लिए घेराव करने की घोषणा भी कर रखी थी.

बढ़ा हुआ मानदेय

कक्षा (1 से पांचवीं) तक             पहले का मानदेय    बढ़ा हुआ मानदेय
ट्रेंड और टेट पास पारा शिक्षक           9438 रुपये     11 हजार रुपये
प्रशिक्षित पारा शिक्षक                      8954 रुपये     9200 रुपये
अप्रशिक्षित पारा शिक्षक                    8228 रुपये     8228 रुपये
कक्षा (छठवीं से आठवीं) तक
प्रशिक्षित और टेट उत्तीर्ण पारा टीचर   10164 रुपये     12 हजार रुपये
प्रशिक्षित पारा टीचर                         9080 रुपये       10 हजार रुपये
अनट्रेंड पारा टीचर                          8954 रुपये        8954 रुपये

इसे भी पढ़ेंःसीबीआई के डीएसपी केके सिंह पहुंचे रांची, बकोरिया कांड की जांच शुरू

Related Articles

Back to top button