JharkhandLead NewsRanchi

झारखंड सरकार पंचायत चुनाव में पिछड़ा आरक्षण को लेकर कभी गंभीर नहीं रहीः सुदेश महतो

Ranchi : आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने ओबीसी आरक्षण के मसले पर एक बार फिर हेमंत सरकार पर निशाना साधा है. कहा है कि पंचायत चुनाव में पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण का लाभ सुनिश्चित हो सके, इस पर राज्य सरकार ने गंभीरता नहीं दिखायी. न ही कोई हस्तक्षेप किया. ट्रिपल टेस्ट कराने से सरकार बचती रही.
मध्य प्रदेश में पंचायत और निकाय चुनाव को लेकर वहां की सरकार की ओर से दायर संशोधन याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की सराहना करते हुए कहा कि झारखंड में भी पंचायत चुनाव से पहले ओबीसी के आरक्षण को लेकर जरूरी कदम उठाये जा सकते थे.

पर झारखंड सरकार ने केंद्रीय फंड के आवंटन में मुश्किलों की बात सामने रखते हुए ट्रिपल टेस्ट से सीधे तौर पर मुंह मोड़ लिया.

इसे भी पढ़ें:करोड़पति ठेकेदार डकार रहा था गरीबों का अनाज, अब इतना भरना पड़ेगा जुर्माना

Catalyst IAS
SIP abacus

मध्य प्रदेश में आरक्षण पर पहल

MDLM
Sanjeevani

आजसू पार्टी के मुताबिक गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश के पंचायत और स्थानीय निकाय चुनाव में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आरक्षण को हरी झंडी दे दी है. साथ ही राज्य निर्वाचन आयोग को एक हफ्ते में पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी करने को कहा है. आजसू प्रमुख के मुताबिक अब झारखंड में दो चरणों के चुनाव हो गये हैं. सरकार को अगले चुनाव को ध्यान में रखते हुए ट्रिपल टेस्ट की प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए.

अब तक राज्य सरकार पिछड़ों के वाजिब और संवैधानिक अधिकार को लेकर कभी संवेदनशील नहीं रही है. इस कारण राज्य में हो रहे पंचायत चुनाव में पिछड़ा आरक्षित हजारों पद भी समाप्त हो गये.

इसे भी पढ़ें:प्रेरक : बिहार के सोनू ने पढ़ाई के लिए CM नीतीश से मांगी थी मदद, एक्टर सोनू सूद ने इंटरनेशनल स्कूल में करवाया एडमिशन

Related Articles

Back to top button