न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड सरकार : सालभर में लगाया 25 रोजगार मेला, उसपर सालाना खर्च 3.45 करोड़, मिला सिर्फ 3242 को रोजगार

एक रोजगार मेला में मिलता है औसतन 130 लोगों को ही रोजगार, मेले के आयोजन में खर्च होता है 13.80 लाख रुपये

151

Ranchi : राज्य सरकार रोजगार देने के लाख दावे कर ले, लेकिन हकीकत कुछ और ही है. श्रम विभाग रोजगार मेला और प्रदर्शनी पर सालाना 3.45 करोड़ रुपये खर्च करती है. इसका उल्लेख सरकारी आंकड़ों में है. मार्च 2018 से 31 मार्च 2019 तक श्रम विभाग ने सभी जिलों में 25 रोजगार मेला लगाया. जिसमें विभिन्न कंपनियों व सेवा क्षेत्र में सिर्फ 3242 लोगों को ही रोजगार मिला.

mi banner add

सरकार ने  एक रोजगार मेला लगाने पर 13.80 लाख रुपये खर्च भी किये. बावजूद इसके गढ़वा और चाईबासा में किसी को भी रोजगार नहीं मिला. दूसरी चौंकाने वाली बात यह भी है कि राष्ट्रीय नियोजन सेवा के तहत किसी क्षेत्र में दो फीसदी से अधिक लोगों को रोजगार नहीं मिला है. खुद श्रम विभाग के आंकड़े ही इसे बयां कर रहे हैं.

राष्ट्रीय नियोजन सेवा के तहत सिर्फ 707 लोगों को रोजगार

राष्ट्रीय नियोजन सेवा के तहत झारखंड से किसी भी क्षेत्र में दो फीसदी से अधिक लोगों को रोजगार नहीं मिल पाया है. सरकार के आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय नियोजन सेवा के तहत सिर्फ 707 लोगों को ही रोजगार मिला है. आर्ट एंड इंटरटेनमेंट, केमिकल व फार्मास्यूटिकल, कृषि, फॉरेस्ट्री व फिसरिज और टूरिज्म में किसी को भी रोजगार नहीं मिला है. सिर्फ इंडस्ट्रीज में 1.30 फीसदी को ही रोजगार मिला है.

इसे भी पढ़ें – पैदा लेते ही 26,225 रुपये के कर्जदार होंगे झारखंड के नौनिहाल

जानिए राष्ट्रीय नियोजन सेवा के तहत झारखंड में रोजगार का सच

क्षेत्र का  नामकितने लोगों को रोजगारकितने फीसदी को रोजगार 
एकोमेडेशन व फूड सर्विस100.46 फीसदी 
एडमिनिस्ट्रेटिव सर्पोट सर्विस040.49 फीसदी 
कृषि, फॉरेस्ट्री व फिसरिज0000 फीसदी 
आर्ट्स व इंटरटेनमेंट0000 फीसदी 
बीपीओ व आइटी010.67 फीसदी 
केमिकल व फार्मास्यूटिकल0000 फीसदी 
कंस्ट्रक्शन370.59 फीसदी 
एजुकेशन सर्विस1010.38 फीसदी 
इलेक्ट्रीसिटी040.39 फीसदी 
फाइनांस व इंश्योरेंस1340.53 फीसदी 
हेल्थ एंड सोशल वर्क280.40 फीसदी 
इंफोरमेशन730.66 फीसदी 
माइनिंग060.58 फीसदी 
मैन्यूफेक्चरिंग620.60 फीसदी 
इंडस्ट्रीज101.30 फीसदी 
अन्य सेवा1340.19 फीसदी 
प्रोफेशनल व टेक्निकल060.19 फीसदी 
रियल एस्टेट020.4 फीसदी 
ट्रांसफोटेशन040.11 फीसदी 
टूरिज्म0000 फीसदी 
रिपयेरिंग910.83 फीसदी 

 

इसे भी पढ़ें – 47.8 प्रतिशत कुपोषण वाले झारखंड में डेढ़ माह से नौनिहालों का अंडा बंद

Related Posts

आयकर विभाग ने आइटीआर एक, दो और चार के लिए ई-फाइलिंग यूटिलिटीज जारी की: संजय

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स की रांची शाखा का बजट पर एक दिवसीय सेमिनार

जानिए रोजगार मेले की सच्चाई

जिला का नामकितने लोगों को रोजगार 
रांची290 
खूंटी291 
लोहरदगा68 
डालटनगंज255 
गढ़वा00 
लातेहार90 
हजारीबाग194 
रामगढ़213 
गुमला109 
सिमडेगा83 
धनबाद137 
बोकारो152 
कोडरमा137 
चतरा11 
गिरिडीह112 
जमशेदपुर333 
सरायकेला120 
चाईबासा00 
दुमका113 
जामताड़ा148 
देवघर93 
गोड्डा02 
साहेबगंज161 
पाकुड़190 

 

सरकायकेला -खरसांवा में दो बार लगा रोजगार मेला     

किस साल रोजगार मेला में कितने को रोजगार

वित्तीय वर्षकितने को रोजगार
2015-164412
2017-185723
2018-193242

 

इसे भी पढ़ें – आजादी के 70 साल बाद भी बोक्काखांड गांव बेहाल, एक कुएं के भरोसे है पूरा गांव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: