JharkhandLead NewsRanchi

राष्ट्रपति के हाथों झारखंड को मिला शहरी स्वच्छता में देश में नंबर वन होने का अवार्ड

  • सफाई में जमशेदपुर, जुगसलाई को सम्मान
  • स्वच्छ सर्वेक्षण 2021

Ranchi: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा स्वच्छ भारत सर्वेक्षण 2021 में झारखंड को राज्यों की श्रेणी में देश के अव्वल राज्य का सम्मान प्रदान किया गया है. नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित सम्मान समारोह में राष्ट्रपति से यह सम्मान राज्य के नगर विकास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे व निदेशक राज्य शहरी विकास अभिकरण अमित कुमार ने प्राप्त किया.

सफाई के क्षेत्र में जमशेदपुर और जुगसलाई को शहर को इस साल सम्मान मिला. रांची इस अवार्ड से वंचित रह गया. स्वच्छ सर्वेक्षण 100 शहरी निकाय वाले राज्यों की श्रेणी में झारखंड को बेस्ट परफॉर्मिंग अवार्ड के साथ साथ कुछ शहरों को भी विभिन्न कैटेगरी में सम्मानित किया गया है.

देश के 3-10 लाख तक की आबादी वाले शहरों में जमशेदपुर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज के लिए दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है.

पूर्व जोन के 25-50 हजार आबादी वाले शहरों में जुगसलाई को सिटिजन फिडबैक के लिए बेस्ट सिटी के रूप में सम्मानित किया गया है. इसी तरह गार्बेज 3 स्टार रेटिंग में भी झारखंड के जमशेदपुर को तीन स्टॉर रेटिंग से सम्मानित किया गया है.

इस मौके पर केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी एवं केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य कार्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा समेत कई राज्यों के अधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें :झारखण्ड के पारंपरिक आभूषण बने IITF में आकर्षण का केंद्र, पलाश ब्रांड ने की 4 लाख रुपये से अधिक की बिक्री

सीएम ने दी शुभकामना

स्वच्छता के क्षेत्र में झारखंड को मिली सफलता पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने प्रदेश के शहरी निकायों में रह रहे नागरिकों और सफाइकर्मियों को बधाई और शुभकामना दिया है. सीएम ने कहा कि सभी के संयुक्त प्रयास से ये सम्मान झारखंड को प्राप्त हुआ है और यह सम्मान देश के नागरिकों के लिए गौरव का विषय रहा है. मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने भी राज्य की जनता ओर नगर विकास विभाग केअधिकारियों व कर्मियों को बधाई दी है.

इसे भी पढ़ें :जानें ऐसी क्या एमर्जेंसी आयी जो भारतीय मूल की कमला हैरिस बन गयी अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति

और बेहतर करेंगे: विनय कुमार चौबे

नगर विकास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे ने इस अवसर पर कहा कि सीएम के कुशल मार्गदर्शन और नागरिकों के सहयोग से यह सफलता मिली है. उन्होंने कहा कि यह प्रयास होगा कि अगले सर्वेक्षण में और बेहतर परफॉरमेंस हो.

राज्य शहरी विकास अभीकरण और स्वच्छ भारत मिशन के निदेशक अमित कुमार ने कहा कि यह क्षण झारखंड के लिए गौरव की बात है. उन्होंने सभी नागरिकों,सफाई कर्मियों को भी धन्यवाद दिया.

इसे भी पढ़ें :ये CAR है कमाल की, ना चाहिए पेट्रोल, ना डीजल, ना CNG और ना ही बिजली, फ्री में तय करें सफर

शहरी स्वच्छता के क्षेत्र में झारखंड का प्रदर्शन कुछ साल से बहुत अच्छा रहा

बता दें कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2016 में झारखंड की स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी पर लगातार स्वच्छ सर्वेक्षण 2017,2018,2019,2020,2021 में राज्य की जनता और उनके सहयोग से शहरी निकायों तथा राज्य सरकार के कुशल मार्गदर्शन में राज्य ने स्वच्छता के क्षेत्र में कई सम्मान प्राप्त किया है.

वर्तमान समय में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सफाईकर्मियों के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए कई कार्य किए हैं. जिस वजह से झारखंड पूरे देश में अव्वल रहा और यहां के शहर भी सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में भी सम्मानित हुआ.

  • स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में विभाग और निकायों ने कई काम किए हैं
  • सभी निकायों में बैठक, कार्यशाला और कैंपेन आयोजित हुआ.
  • समाज के हर वर्ग की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए कार्यक्रम चलाए गये.
  • डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन सुनिश्चित कराया गया.
  • सेग्रिगेशन एंड प्रोसेसिंग ऑफ वेस्ट को प्राथमिकता.
  • पीट कंपोस्टिंग एंड ऑनसाइट कंपोस्टिंग के लिए नगर निकायों और नागरिकों को प्रोत्साहित किया गया.
  • रीसाइक्लर्स को नगर निकायों से जोड़ा गया.
  • कैरी बैग को बैन किया गया और सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल में कमी लायी गयी.
  • स्वच्छता ऐप के माध्यम से सफाई से जुड़ी समस्याओं का त्वरित निदान किया गया.

इसे भी पढ़ें :झारखण्ड के पारंपरिक आभूषण बने IITF में आकर्षण का केंद्र, पलाश ब्रांड ने की 4 लाख रुपये से अधिक की बिक्री

Related Articles

Back to top button