GiridihJharkhandKhas-Khabar

गिरिडीह : पूर्व भाजयुमो सदस्य ने दी आमरण अनशन की धमकी, तब विधायक ने लौटाये 50 हजार

Giridih :  गिरिडीह भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व सदस्य बिशेश्वर शर्मा उर्फ कालू राणा ने जमुआ विधायक केदार हाजरा पर योजना के नाम पर पैसा हजम करने का आरोप लगाया. इसके अलावा विधायक पर फर्नीचर का काम करवाकर राशि का भुगतान नहीं करने का भी आरोप लगाया है. इस संदर्भ में उन्होंने उपायुक्त को पत्र लिखकर आमरण अनशन में बैठने की बात कही.

गिरिडीह : पूर्व भाजयुमो सदस्य ने दी आमरण अनशन की धमकी, तब विधायक ने लौटाये 50 हजार
विधायक द्वारा दिया गया चेक

जिसके बाद विधायक केदार हाजरा ने बिशेश्वर शर्मा के नाम पर 50 हजार का चेक जारी कर दिया. साथ ही जमुआ प्रखंड के बधैयडीह गांव के बुढ़वा अहार तालाब में स्नान घाट निर्माण की अनुशंसा भी की, जिसकी प्राक्कलित राशि 6,83000 है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें – #JPSC: दो साल पहले की अकाउंट ऑफिसर नियुक्ति को किया रद्द अब फिर में मंगाया आवेदन

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

विधायक के आवास पर फर्नीचर के काम का 40 हजार बकाया

युवा मोर्चा के पूर्व सदस्य ने विधायक पर आरोप लगाया है कि विधायक ने उसे विश्वास में लेकर  अपने बोलो स्थित घर पर 40 हजार की लागत का फर्नीचर का काम करवा लिया. जिसकी राशि का भुगतान भी अभी तक नहीं किया गया है.

गिरिडीह : पूर्व भाजयुमो सदस्य ने दी आमरण अनशन की धमकी, तब विधायक ने लौटाये 50 हजार
विधायक का लिखा पत्र

साथ ही बिशेश्वर शर्मा ने कहा कि विधायक पैसे मांगने पर हमेशा आजकल कहकर टालमटोल करते रहते हैं. साथ ही बताया कि पैसे मांगने पर विधायक उन्हें यह कह देते थे कि पैसे के बदले बधैडीह स्नानघाट का काम लिख देते हैं, जो झूठ था.

हालांकि जब बिशेश्वर शर्मा ने पैसे नहीं मिलने पर विधायक को अनशन पर जाने की बात कही. तो उसके तुरंत बाद ही गुरुवार 17 अक्टूबर 2019 को विधायक केदार हाजरा ने डीडीसी को पत्र लिखकर बधैडीह स्नानघाट निर्माण की अनुशंसा कर दी.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandPolice ने HC को सौंपे दागी जनप्रतिनिधियों के ब्योरे में CM, तीन मंत्रियों व सांसद का नाम छिपाया

बकाया राशि की भुगतान होने तक आमरण अनशन की मांगी अनुमति

भाजयुमो के पूर्व सदस्य बिशेश्वर शर्मा ने विधायक केदार हाजरा द्वारा बकाया राशि के भुगतान नहीं होने तक आमरण अनशन और भूख हड़ताल करने की अनुमति के लिए जिला उपायुक्त को पत्र लिखा था.

गिरिडीह : पूर्व भाजयुमो सदस्य ने दी आमरण अनशन की धमकी, तब विधायक ने लौटाये 50 हजार
डीसी को लिखा गया पत्र

उसमें उन्होंने कहा था कि विधायक बकाये रकम की मांग पर कोई दिलचस्पी नहीं लेते, ना ही बकाये रकम के भुगतान के संबंध में कोई बात ही करते हैं. जिससे मेरा नुकसान हो रहा है.

वहीं केदार हाजरा पर बिशेश्वर शर्मा ने यह भी आरोप लगाये हैं कि विधायक ने साइबर अपराधियों के साथ मिलकर उन्हें 50,000 से अधिक का नुकसान पहुंचाय़ा है और साथ ही मानसिक व सामाजिक नुकसान पहुंचाने का भी काम किया है.

इसे भी पढ़ें – केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा, ‘रांची की विधि-व्यवस्था चिंताजनक’

Related Articles

Back to top button