JharkhandLead NewsRanchi

Jharkhand: उपायुक्त अरवा राजकमल पर लगे आरोपों की फाइल केंद्र के पास भेजी जायेगी

Ranchi: आइएएस अधिकारी अरवा राजकमल पर बोकारो उपायुक्त के पद पर रहते हुए लगे आरोपों की संचिका केंद्र सरकार के समक्ष भेजी जायेगी. इस संबंध में केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने पूरी रिपोर्ट मांगी है. अरवा राजकमल 24.12.2013 से बिना सूचना के तीन साल तक ड्यूटी से गायब होकर विदेश में रह रहे थे. उन्होंने झारखंड सरकार से नहीं तो विधिवत छुट्टी नहीं ली थी और न ही कोई सूचना दी थी. कार्मिक विभाग ने उनके खिलाफ कार्रवाई की थी.

 

उनसे पूछताछ के बाद यह बात सामने आयी कि यूएस के हावर्ड विवि के जॉन एफ केनडी स्कूल में वे कोर्स कर रहे थे. इसके लिए ना तो उन्होंने भारत सरकार और ना ही राज्य सरकार के पास कोई आवेदन दिया था. विभाग ने लीव नियम का उल्लंघन माना. राज्य सरकार के निर्देश के बाद उन्हें निलंबित करते हुए विभागीय कार्यवाही चलायी गयी थी. हालांकि,बाद में उन्हें मामूली निंदन की सजा दी गयी थी. विभाग ने इसके अलावा मामले की जांच के लिए आइएएस अधिकारी एनएन सिन्हा को जिम्मा दिया था. एनएन सिन्हा ने पूरे मामले पर काफी हद तक जांच भी किया,लेकिन इस बीच वे केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर चले गये और केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव के पद पर कार्यरत हैं. इसके बाद राज्य सरकार ने विकास आयुक्त केके खंडेलवाल को पूरे मामले पर रिपोर्ट देने के लिए नामित किया. अधिकारिक सूत्रों के अनुसार केके खंडेलवाल ने पूरे मामले की जांच कर विस्तृत रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंप दिया है. अब इसे भारत सरकार को भेजा जायेगा. हालांकि, सूत्रों के अनुसार रिपोर्ट साकारात्मक ही है,ऐसे में इस मामले में केंद्र सरकार भी आगे कुछ खास कार्रवाई नहीं करेगी. अरवा राजकमल में वर्तमान में सरायकेला-खरसावां जिले के उपायुक्त हैं.

Related Articles

Back to top button