न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Jharkhand Election : तीसरे चरण में रांची संसदीय सीट है हॉट, सीटिंग सीटों को बचाना गठबंधन के लिए बड़ी चुनौती

तीसरे चरण में कांग्रेस 9, जेएमएम 6 और आरजेडी के 2 प्रत्याशी हैं चुनावी मैदान में

106

Ranchi :  झारखंड विधानसभा चुनाव का दूसरा चरण पूरा होने के बाद गठबंधन नेता तीसरे चरण के लिए जुट गये हैं. सत्तारूढ़ बीजेपी को बाहर करने के लिए कांग्रेस, जेएमएम सहित आरजेडी नेता लगातार क्षेत्र के दौरे पर हैं.

रांची से पार्टी प्रत्याशी के लिए जेएमएम कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन का रोड शो और बेरमो और रामगढ़ जैसे सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशी के चुनावी प्रचार में हेमंत का शामिल होना साफ इंगित करता है कि गठबंधन की जीत सुनिश्चित करने के लिए सभी मजबूती से मैदान में है.

गौरतलब है कि तीसरे चरण के लिए कुल 17 सीटों के लिए 12 दिसम्बर को चुनाव होना है. इसमें रांची संसदीय सीट के सभी 6 सीटों के लिए कई हॉट सीटें शामिल हैं. इसमें कांग्रेस 9, जेएमएम 6 औऱ आरजेडी कुल 2 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. कांग्रेस जहां कांके (सुरेश बैठा), हटिया (अजय नाथ शाहदेव), खिजरी (राजेश कच्छप), बेरमो (राजेंद्र सिंह), हजारीबाग (डॉ. आरसी मेहता), सिमरिया (योगेन्द्र नाथ बैठा), बड़कागांव (अंबा प्रसाद), रामगढ़ (ममता देवी) औऱ बरही (उमाशंकर अकेला) पर चुनावी मैदान में है.

वहीं जेएमएम मांडू (राम प्रकाश भाई पटेल), धनवार (निजामुदीन अंसारी), गोमिया (बबिता महतो), ईचागढ़ (सबीता महतो), सिल्ली (सीमा महतो) और रांची (महुआ मांजी) से मैदान में हैं. आरजेडी बरकट्टा (खलीद खलील) और धनवार (अमिताभ कुमार) से चुनाव लड़ रही है.

hotlips top

इसे भी पढ़ें – #EconomicSlowdown : रघुराम राजन ने कहा, अर्थव्यवस्था का संचालन PMO से होना, मंत्रियों के पास कोई शक्ति नहीं होना ठीक नहीं

हॉट सीट है रांची संसदीय क्षेत्र के 6 विधानसभा सीटें

रांची संसदीय सीट पिछली बार की तरह इस बार भी काफी हॉट सीट माना जा रहा है. इसमें कुल 6 विधानसभा (रांची, कांके, हटिया, खिजरी, ईचागढ़ के अलावा सिल्ली) शामिल है. इसमें 5 सीटों पर बीजेपी का कब्जा है. जाहिर है कि सत्ता में पहुंचने के लिए गठबंधन प्रत्याशी को बीजेपी के इस गढ़ को तोड़ना एक बड़ी चुनौती है.

30 may to 1 june

कांके सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश बैठा पार्टी के ग्रामीण जिला अध्य़क्ष है. ग्रामीण इलाकों में उनकी पकड़ बीजेपी प्रत्याशी के लिए एक चुनौती बतायी जा रही है. हटिया सीट पर बीजेपी के नवीन जायसवाल को हराने के लिए कांग्रेस के अजय नाथ शाहदेव लगातार क्षेत्र दौरे पर है.

नगड़ी में अल्पसंख्यक वोटरों की संख्या, धुर्वा में विस्थापितों के समर्थन से वे बीजेपी प्रत्याशी को टक्कर दे सकते हैं. ईचागढ़ और खिजरी में भी कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. रांची और सिल्ली सीट पर जेएमएम प्रत्याशी मैदान में हैं.

 

बेरमो औऱ रामगढ़ जीत आसान बनाने के लिए जेएमएम का चुनावी जनसभा

बेरमो सीट की बात करें, तो कांग्रेस प्रत्याशी काफी मजबूत स्थिति में है. डुमरी के टाइगर कहे जाने वाले जगन्नाथ महतो, हेमंत सोरेन और छत्तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल के उनके समर्थन में किये चुनावी प्रचार, उनका और उनके दोनों बेटों का क्षेत्र में लगातार जनसंपर्क अभियान से कांग्रेस के लिए यहां जीत की राह काफी हद तक आसान बन दी है.

इसी तरह रामगढ़ सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में हेमंत सोरेन और कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की चुनावी जनसभा, बड़कागांव से पूर्व विधायक योगेंद्र साव की बेटी अंबा की मजबूती ने क्षेत्र में लड़ाई को काफी रोचक बना दिया है. बरही से बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए कांग्रेस प्रत्याशी उमाशंकर अकेला के सामने बीजेपी में शामिल हुए कांग्रेस के पूर्व विधायक मनोज यादव सामने हैं.

मनोज यादव जहां विकास के नाम पर वोट मांग रहे हैं  तो अकेला ने कहा कि बीजेपी राज में बरही के कई गांव आज भी पानी सहित कई मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं. हजारीबाग में कांग्रेस के एक नये चेहरे डॉ. आरसी मेहता को टिकट देने से क्षेत्र के कार्यकर्ताओं में कुछ नाराजगी भी है. पार्टी के जिला अध्य़क्ष देवराज ने शीर्ष नेताओं पर टिकट बेचने का आरोप लगाकर इस्तीफा भी दे दिया है.

इसे भी पढ़ें – #unnaokibeti: अंतिम संस्कार को राजी हुआ परिवार, 25 लाख मुआवजा, पक्का मकान और बहन को नौकरी का वादा

सीटिंग सीट बचाने के साथ अन्य को जीतना जेएमएम के लिए कड़ी चुनौती

जेएमएम के लिए अपनी सीटिंग सीट मांडू, गोमिया, सिल्ली को बचाने के साथ अन्य सीटों को जीतना भी कड़ी चुनौती है. बात अगर रांची सीट की करें, तो गठबंधन की तरफ से जेएमएम की महुआ माजी यहां चुनावी मैदान में है.

बीजेपी प्रत्याशी सह नगर विकास मंत्री सीपी सिंह की तुलना में वह कमजोर दिखती हैं. लेकिन हेमंत सोरेन के शनिवार के रोड़ शो, गठबंधन पार्टियों के सहयोग से माना जा रहा है कि वह इस बार सीपी सिंह को कड़ी टक्कर दे सकती हैं.

मांडू सीट से पार्टी बगावत कर बीजेपी में शामिल हुए जेपी भाई पटेल के सामने उनके बड़े भाई राम प्रकाश भाई पटेल मैदान में हैं. दिग्गज नेता रह चुके अपने पिता स्वर्गीय टेकलाल महतो के नाम का सहारा दोनों लेकर क्षेत्र के दौरे पर है.

सिल्ली में आजसू सुप्रिमो सुदेश महतो को लगातार दो बार हराकर पार्टी जहां तीसरी बार जीत की कोशिश में है. वहीं गोमिया विधानसभा से प्रत्याशी सह विधायक बबीता महतो के सामने अपने पति योगेंद्र महतो की विरासत बचाने की चुनौती है.

योगेंद्र महतो एक बार गोमिया से विधायक रह चुके हैं. पिछले उपचुनाव में पत्नी बबीता महतो ने जीत दर्ज की थी. एक बार फिर से बबीता महतो झामुमो के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं. वहीं धनवार से पार्टी प्रत्याशी निजामुदीन अंसारी और ईचागढ़ से प्रत्याशी सबीता महतो के सामने क्रमशः वाम पार्टी और बीजेपी की मजूबती से निपटना एक बड़ी चुनौती है.

2 सीटों पर आरजेडी लड़ रही है चुनाव

तीसरे चरण में आरजेडी कुल 2 सीटों कोडरमा और बरकट्टा से चुनाव लड़ रही हैं. यहां से क्रमशः अमिताभ कुमार और खालिद खलील मैदान में हैं. कोरडमा सीट पर पहले से ही आरजेडी का दबदबा रहा है. हालांकि पूर्व विधायक अन्नपूर्णा देवी बीजेपी की टिकट पर कोरडमा से सांसद बन चुकी हैं.

उनकी पकड़ पार्टी प्रत्याशी के सामने एक बड़ी चुनौती है. वहीं खालिद खलील जेवीएम छोड़ आरजेडी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. 2014 में जेवीएम छोड़ बीजेपी में शामिल हुए सीटिंग विधायक जानकी यादव को हराने के लिए वे बीजेपी पर लगातार हमला बोल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – #BJP में बड़ा कन्फ्यूजन: अध्यक्ष कहते- दूसरे चरण के सभी 20 सीट जीतेंगे, प्रवक्ता कहते- दो पर हार रहे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like