JharkhandLead NewsRanchi

वादों को पूरा करने में मील का पत्थर साबित होगा  Jharkhand Budget : अविनाश पांडे

Ranchi: झारखंड कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोनाकाल से उबरने के बाद अनेकों परेशानियां झेलने के बावजूद जनता से किये गये वायदों को निभाने के दिशा में यह बजट मील का पत्थर साबित होगा. महामारी से निःसंदेह झारखंड राज्य की चुनौतियां बड़ी थी और केन्द्र का उपेक्षा पूर्ण रवैया राज्य के सामाजिक आर्थिक विकास में व्यवधान के रूप में सामने आया था. श्री पांडे ने कहा कि निरंतर आगे बढ़ने के संकल्प के साथ यह बजट वैकल्पिक मार्गों को प्रदर्शित करते हुए दिखता है.

इसे भी पढ़ें:  नाबार्ड अध्यक्ष डॉ जीआर चिंताला मिले सीएम से, हरसंभव सहयोग का दिया भरोसा

सामाजिक आर्थिक ढांचे को विकास की पटरी पर लाने के लिए यह बजट कारगर

उन्होंने कहा कि राज्य के सामाजिक आर्थिक ढांचे को पुनः प्रगति के पटरी पर लाने के लिए यह बजट अत्यंत कारगर साबित होगा. कांग्रेस पार्टी एवं महागठबंधन के साथी दलों के द्वारा जनता से किये गये वादा रूपी संकल्प पत्र को जमीन पर उतारने के लिए जो प्रावधान लाये गये हैं वह अत्यंत सराहनीय है. झारखंड प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने राज्य के सामाजिक एवं आर्थिक गतिविधियों की निरंतरता बनाये रखने के लिए इज ऑफ डूइंग बिजनेस एवं ईज ऑफ लिविंग के दृष्टिगत बजट में किये गये प्रावधानों की तारिफ की है. उन्होंने सरकार की इच्छाशक्ति और संकल्प की तारीफ करते हुए कहा कि राज्य में चल रहे आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में आम जनता के दरवाजे तक पहुंचकर  समस्याओं का समाधान निकाला गया जिसका उत्साहवर्धक परिणाम भी सामने आया है.

MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें:  गरीबों को 100 यूनिट बिजली फ्री, एक रुपये में मिलेगी एक किलो दाल : रामेश्वर

झारखंड सरकार के कुशल वित्तीय प्रबंधन, स्पष्ट इरादे एवं दूरदर्शिता झलकती है

प्रदेश प्रभारी ने सदन के समक्ष प्रस्तुत किये गये राज्य के सकल बजट के आकार 01 लाख 01 हजार 101 करोड़ रूपये का अनुमान को जरूरी बताया. आम जनता के सुझावों के आधार पर बजट में प्रावधानित राशि के लिए निधि की व्यवस्था की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि गुरुवार को पेश किये गये बजट में इस बात के उल्लेख से झारखंड सरकार के कुशल वित्तीय प्रबंधन, स्पष्ट इरादे एवं दूरदर्शिता झलकती है. वितीय वर्ष 2022-21 में देश के अन्य राज्यों के भांति झारखंड में विकास दर में गिरावट जरूर आयी परंतु देश के सकल घरेलु उत्पादन (जीडीपी) 7.3 प्रतिशत के गिरावट की तुलना में झारखंड में मात्र 4.7 प्रतिशत की गिरावट दर्ज किया जाना इस बात का स्पष्ट प्रमाण है.

झारखंड प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 1,01,101 करोड़ का बजट सदन में पेश किया जो कि पूर्व वित्तीय वर्ष की तुलना में 9,824 करोड़ रुपये अधिक का बजट है. यह विकासशील प्रदेश का बजट है, वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में तैयार किया गया 2022-23 बजट आम आदमी की आकांक्षाओं और आशाओं को पूरा करने वाला साबित होगा.

इसे भी पढ़ें: एक सप्ताह के अंदर मोरहाबादी में दुकानें लगाने का हाइकोर्ट ने दिया आदेश

Related Articles

Back to top button