Corona_UpdatesRanchi

#Jharkhand: 17 मई से पहले कई चीजों में मिल सकती है छूट, सरकार ने तैयार किया प्लान, सीएम की मुहर का इंतजार

Ranchi: केंद्र सरकार की तरफ से तीसरे लॉकडाउन में मिली छूट को झारखंड में लागू नहीं किया गया था. सरकार का कहना था कि झारखंड में लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूर लौटेंगे, ऐसे में लॉकडाउन में छूट विनाशकारी हो सकता है. इस बीच लगातार प्रवासी मजदूर और छात्र झारखंड में वापस आ रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःकेंद्र ने राज्य सरकारों से मांगा सहयोग, कहा– प्रवासियों को रेलवे ट्रैक और सड़कों पर पैदल चलने से रोकें 

अब सरकार यह फैसला लेने जा रही है कि आखिर किस तरह से राज्य को फिर से पटरी पर लाया जाए. सभी चीजें बंद होने की वजह से राज्य की आर्थिक स्थिति पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है. साथ ही लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हो गए हैं.

advt

इन्हीं सारी चीजों को लेकर सरकार के आला अधिकारियों ने एक हाईलेवल की बैठक की. बैठक में खाका तैयार किया गया कि आखिर कैसे धीरे-धीरे लॉकडाउन में छूट दी जाए. ताकि 17 के बाद अचानक से लॉकडाउन खत्म होने के बाद आसानी से सारी दिक्कतें दूर हो जाए.

17 से पहले ही मिल सकती है छूट, देर शाम सीएम करेंगे फैसला

अचानक से 17 तारीख के बाद लॉकडाउन खुलने से परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में कुछ चीजों में 17 मई से पहले से ही छूट देने की व्यवस्था पर सरकार सोच रही है. ऐसी चीजें जो काफी जरूरी हैं और जिससे राजस्व का भी नुकसान भारी मात्रा में हो रहा है, उसमें सरकार छूट दे सकती है.

साथ ही 17 तारीख के बाद भी सरकार किस तरह से छूट देगी, इसकी भी तैयारी हो रही है. सीएम हेमंत सोरेन एक दाह-संस्कार के काम से अपने पैतृक निवास गये हुए हैं.

शाम को वापस आने के बाद एक बार फिर से सीएम आवास पर उच्च अधिकारियों की बैठक होने वाली है. उसी बैठक में इन सारी बातों पर निर्णय लेना है कि किस तरह की छूट झारखंड में दी जाये.

adv

इसे भी पढ़ेंःधनबाद: सूरत से 1203 मजदूर स्पेशल ट्रेन से पहुंचे, रखा सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल

जानें कौन सा जिला किस जोन में

ग्रीन जोन – लातेहार, गुमला, लोहरदगा, पाकुड़, चतरा, पश्चिती सिहंभूम, पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला खरसावां, साहिबगंज, रामगढ़ और खूंटी.

ऑरेंज जोन – बोकारो, हजारीबाग, धनबाद, गिरिडीह, सिमडेगा, कोडरमा, देवघर, पलामू, जामताड़ा, गोड्डा और दुमकात्र

रेड जोन – रांची और गढ़वा.

रेड जोन को छोड़कर ग्रीन और ऑरेंज जोन में छूट एक जैसी ही रहेगी

उद्योग – सभी तरह के उद्योगों को खोलने की छूट होगी
कंस्ट्रक्शन – शहरों में भी हर तरह के कंस्ट्रक्शन की छूट.

बाजार – गोदाम, वेयरहाउस खुलेंगे, हार्डवेयर व कंस्ट्रक्शन के सामान बेचने वाली दुकानें, ऑटोमोबाइल, ऑटो एसेसरीज की दुकानें खुलेंगी.

ई कॉर्मस – जरूरी व गैर जरूरी सामान की आपूर्ति.
निजी दफ्तर – सभी निजी दफ्तर खुल पायेंगे.

शराब – शराब दुकानें खुलेंगी. बिक्री ई कूपन के जरिये होगी. लेकिन उत्पाद विभाग के आदेश के बाद.

अन्य छूट: कंटेनमेंट जोन के बाहर चौपहिया वाहन में ड्राइवर के अलावा दो और लोग पिछली सीट पर बैठ सकेंगे. दोपहिया पर सिर्फ चालक को अनुमति है. शहरी क्षेत्रों में निमार्ण कार्य शुरू होगी. पर बाहर के मजदूर नहीं होंगे. सरकारी कार्यालयों में उप सचिव व उनसे उपर के सभी अधिकारी आयेंगे.

जानें कंटेनमेंट जोन को छोड़कर रांची में किन चीजों पर मिली है छूट

चार पहिया दो पहिया वाहन – हां

किराना, मोबाइल, स्टेशनरी, कपड़े की दुकानें – हां

33 प्रतिशत स्टाफ के साथ निजी दफ्तर खुलेंगे – हां

इलेक्ट्रिशन, प्लंबर, कारपेंटर सेवाएं – हां

ओपीडी और मेडिकल क्लिनिक – हां

स्पा और सैलून – नहीं

50 प्रतिशत यात्रियों के साथ बसें चलेंगी – नहीं

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कंस्ट्रक्शन – हां

ई कॉमर्स से जरूरी सामान मंगा सकेंगे – हां

आईटी सेवाएं डेटा कॉल सेंटर – हां

शॉपिंग मॉल कॉम्पलेक्स – नहीं

जरूरी उत्पादन संबधी औद्योगिक इकाइयां – हां

बता दें कि ऑरेज जोन में छूट कंटेनमेंट जोन की सीमा से एक किमी के दायरे के बाहर मिलेगी

इसे भी पढ़ें – रेलवे बोला- स्पेशल ट्रेनों की अगले सात दिनों के लिए 16.15 करोड़ की 45,000 से अधिक टिकटें की गईं बुक

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button