JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

नशे के कारोबार का कॉरिडोर बना झारखंड

Ranchi : प्रकृति की खूबसूरत वादियों से घिरा झारखंड अब नशे के सौदागरों के लिए सुरक्षित पनाहगार बन चुका है. ड्रग्स की स्मगलिंग के लिए झारखंड का इस्तेमाल माफिया कॉरिडोर की तरह कर रहे हैं. इसी राज्य से होकर अफीम व गांजा देश के अन्य दूसरे हिस्सों, खासकर पंजाब, बिहार, हरियाणा, उत्तर प्रदेश होते हुए दिल्ली-मुंबई तक पहुंच रहा है. राज्य में अब तक दर्जनभर से अधिक स्थानों से बरामद गांजा का ओडिशा कनेक्शन मिल चुका है. अफीम की खेती और इसकी तस्करी को लेकर झारखंड के नक्सल प्रभावित क्षेत्र हमेशा से बदनाम रहे हैं. रांची, सरायकेला-खरसांवा, खूंटी, चतरा, लातेहार जिले में सबसे अधिक अफीम की खेती के सबूत मिलते रहे हैं.

Advt

इसे भी पढ़ें : धनबाद : झरिया मातृ सदन में गर्भवती महिला की मौत, अस्पताल में हंगामा

अफीम के लिए खूंटी व चतरा सर्वाधिक बदनाम

राज्य में अफीम की खेती के लिए खूंटी व चतरा जिले सर्वाधिक बदनाम रहे हैं. इसके अलावा, रांची, लातेहार, सरायकेला-खरसावां व सिमडेगा जिले के कुछ क्षेत्रों में अफीम की खेती की जानकारी मिलती रही है. एनसीबी की टीम स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर एकड़ की एकड़ फसल नष्ट करती रही है, लेकिन इस नेटवर्क को अब तक पूरी तरह तोडऩे में नाकाम रही है. हर बार यही जानकारी मिलती है कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने से किसानों को अफीम की खेती में बढ़ावा मिलता है. फसल तैयार होने पर इसकी ऊंची कीमत भी मिलती है.

झारखंड में गांजा के बड़े खेप होते रहें हैं जब्त

केस 1.  3 दिसम्बर 2021 को पुलिस टैंकर वाहन के केबिन से सटे प्रथम पार्टीशन में भूरे रंग के प्लास्टिक टेप में लिपटा 30 पैकेट गांजा बरामद किया था. इस टैंकर में कुल 150 किलोग्राम गांजा था जिसे पुलिस ने जब्त किया. वहीं टैंकर के मालिक, चालक एवं सहयोगी को गिरफ्तार किया गया.

केस 2.  1 दिसम्बर 2021 को नामकुम थाना क्षेत्र के रामपुर के पास पुलिस की टीम ने ओड़िशा के नंबर की एक होंडा सिटी कार से करीब 86 किलो गांजा जब्त किया. जब्त सामान की बाजार में कीमत करीब 10 लाख रुपये बताई गई. पुलिस की जांच को देख कार में सवार तीन आरोपी पीछे से आ रहे एसयूवी से भाग निकले थे.

केस 3.  16 नवंबर 2021 को पलामू जिले में पुलिस ने कुछ घरों में छापेमारी कर 38 किलोग्राम गांजा जब्त किया गया था. छापेमारी के दौरान इस धंधे में शामिल चार महिला और दो पुरुषों को गिरफ्तार किया था.

केस 4.  8 नवंबर 2021 को पुलिस ने गांजा लदे ट्रक को जब्त किया था. इस ट्रक में कुल 174 किलोग्राम गांजा था.हालांकि ड्राइवर और तस्कर अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल रहा था.  जब्त गांजे की कीमत 80 लाख रुपये से अधिक बताई गई थी.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर : काशी के अस्सी घाट की तरह विकसित होगा स्वर्णरेखा नदी का गांधी घाट

Advt

Related Articles

Back to top button