न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भूमि अधिग्रहण बिल को लेकर विपक्ष का साहिबगंज बंद कल

सुरक्षा को लेकर जिला प्रशासन ने की है पूरी तैयारी, असामाजिक तत्व और हुड़दंग करने वालों पर रहेगी विशेष नजर, बैंक, स्कूल, कॉलेज, ATM रहेंगे खुले

841

Sahebganj :  प्रदेश भर में कल विपक्षी दलों द्वारा बुलाए गए झारखंड बंद के मद्देनजर प्रशासनिक तैयारी और कानून व्यवस्था को लेकर DDC नैंसी सहाय एवं पुलिस अधीक्षक पी जनार्धनन ने प्रेस वार्ता की. वार्ता में पत्रकारों को संबोधित करते हुए DDC नैंसी सहाय ने बताया कि बंद के मद्देनजर जिला में सभी प्रशासनिक तैयारी पूरी कर ली गई है. जबरन बंदी को लेकर सार्वजनिक और पब्लिक प्रॉपर्टी को तोड़फोड़ व नुकसान पहुंचाने वाले व्यक्ति और संगठनों से प्रशासन पूरी शक्ति के साथ निपटेगा.

सोशल मीडिया पर रहेगी विशेष नजर

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले ग्रुप पर विशेष नजर रखी जा रही है. आईटी एक्ट के द्वारा ऐसे लोगों पर जो शांति भंग करने का प्रयास करेंगे, उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी. सदर प्रखंड सहित बोरियों ,बरहेट, बरहरवा, राजमहल ,मंडरो ,उधवा ,पतना एवं अन्य प्रखंड सहित जिला के कुल 13 थाना क्षेत्रों में संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर पर्याप्त संख्या बल में जिला पुलिस बल अर्धसैनिक बल एवं दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त किए गए है. वही जिला मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष बनाए गए हैं. जहां किसी भी तरह की घटना को लेकर सूचना दी जा सकती है. इसका नंबर 092978783-75 है जो 24 घंटे तक कार्य करेगी.

इसे भी पढ़ें-खूंटी कांड पर WSS की जांच टीम ने खड़े किए सवाल, कहा- गैंगरेप पर पुलिस की कहानी में कई पेंच

राजनीतिक पार्टियों से की जाएगी नुकसान की भरपाई
वहीं पुलिस अधीक्षक पी जनार्दनन ने बताया कि आंसू गैस, कवर, बुलेट, प्लास्टिक बुलेट के द्वारा हुड़दंगियों व असामाजिक तत्वों से निपटने का प्रयास किया जाएगा. अगर बंदी के दौरान सरकारी संपत्ति प्राइवेट संपत्ति को इन प्रदर्शनकारी के द्वारा क्षति पहुंचाई जाती है तो इसकी भरपाई इन्हीं राजनीतिक पार्टी से की जाएगी. वही बंदी समर्थकों और प्रदर्शन के दौरान सभी पार्टियों को निर्देश दिया गया है किसी भी तरह का हथियार एवं पारंपरिक हथियार का प्रदर्शन व प्रयोग करना वांछित अपराध माना जाएगा.

इसे भी पढें-बंद को असंवैधानिक कहना लोकतांत्रिक नहीं

बंदी के दौरान विपक्षी पार्टी व प्रदर्शनकारियों पर ड्रोन कैमरा, CC कैमरा और वीडियोग्राफी के द्वारा नजर रखी जाएगी. बंद समर्थकों के लिए स्थानीय खेल स्टेडियम में अस्थाई जेल कैंप बनाया गया है. हॉस्टल एवं लॉज के पॉलिटिकल छात्रों से अपील की गई है कि इस दौरान संयम बरतें एवं किसी के बहकावे में नहीं आएं. बंदी के दौरान विधि व्यवस्था को लेकर उच्च न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन करें.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: