JharkhandRanchiTOP SLIDER

Jharkhand: सरकारी नौकरी, आयकर, जीएसटी देने वालों को छोड़ सभी जरूरतमंदों-असहायों को मिलेगी पेंशन

शुरू होगी सार्वभौमिक पेंशन योजना

Ranchi: 15 नवंबर राज्य स्थापना दिवस से सरकार नयी यूनिवर्सल पेंशन स्कीम प्रारंभ करेगी. इसके अलावा प्रोजेक्ट भवन सभागार से सीएम हेमंत सोरेन ई-गवर्नेंस को बढ़ावा के लिए ‘Sarkar Aapke dwar.   http://Jharkhand.govt.in  मोबाइल एप की भी लॉन्चिंग करेंगे.

यूनिवर्सल पेंशन योजना से राज्य के 13 लाख लाभुकों को पेंशन योजना का लाभ दिया जायेगा. इसमें सिर्फ वैसे लोग शामिल नहीं होंगे जिनका कोई भी सदस्य भारत सरकार, राज्य सरकार, केंद्र शासित प्रदेश या इनके परिषद, नगर निगम, नगर पर्षद, नगरपालिक, न्यास इत्यादि में नियोजित हो. इसके अलावा वैसे परिवार जिनका कोई भी सदस्य आयकर, सेवा कर व्यवसायिक कर, जीएसटी देता हो उन्हें छोड़कर सभी जरूरतमंद, असहाय को इस योजना का लाभ मिलेगा.

इसे भी पढ़ें :  दिव्यांग बच्चों के अभिभावक एवं शिक्षक संघ ने बाल दिवस पर मनाया काला दिवस

ram janam hospital
Catalyst IAS

सरकार ने पेंशन योजनाओं का नाम बदलकर एक सार्वभौमिक पेंशन योजना किया है. इसके अंतर्गत पेंशन योजना में 60 साल से उपर के वृद्धों, पांच साल या उससे अधिक के दिव्यांग,18 साल या अधिक के निराश्रित महिलाओं को पेंशन योजना से 1000 रुपये प्रतिमाह दिया जायेगा.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

अनुसूचित जनजाति,अनुसूचित जाति,अल्पसंख्यक एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग ने सार्वभौम पेंशन योजना का लाभ पाने के लिए नये सिरे से पात्रता का निर्धारण किया है और इसमें सरकारी नौकरी करने वाले व टैक्स देने वालों को बाहर किया गया है.

इसे भी पढ़ें :  दो दिनों से लगातार हो रही बरसात ने बढ़ायी कनकनी, 18-19 नवंबर को भारी बारिश की संभावना

इन योजनाओं का मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन योजना :- राज्य में निवास करने वाले 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के असहाय वृद्ध व्यक्ति,जिसके पास खुद की आय उसके भरण-पोषण के लायक नहीं या कम है. उसके परिवार या अन्य स्रोतों से वित्तीय सहायता कम मिलती है उन्हें मिलेगा.

मुख्यमंत्री राज्य निराश्रित महिला सम्मान पेंशन योजना :- राज्य में निवास करने वाली 18 साल अथवा इनसे अधिक आयु की ऐसी महिला जिनकी पति की मृत्यु हो गयी. 18 साल या अधिक आयु की परितयक्त महिला. 45 वर्ष अथवा इससे अधिक आयु की एकल महिला को सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध कराना है.

स्वामी विवेकानंद नि:शक्त स्वावलंबन प्रोत्साहन योजना:- इस योजना का उदेशय राज्य में निवास करने वाली पांच साल या उससे अधिक उम्र के दिव्यांग व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध कराना है.
एचआईवी, एड्स पीड़ित व्यक्ति सहायतार्थ पेंशन योजना:- राज्य में निवास करने वाले एचआई,एड्स पीड़ित व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध कराया जायेगा.

इसे भी पढ़ें :  जमशेदपुर में एक घर में छिपा था 8 फीट लंबा अजगर सांंप, लोग बोले- बाप रे बाप

ये होंगे पात्र

– 18 वर्ष से अधिक आयु के आवेदक का मतदाता पहचान पत्र हो.
– आवेदक का आधार कार्ड हो.
– आवेदक स्वयं या पत्नी, पति, केंद्र एवं राज्य सरकार अथवा केंद्रीय, राज्य सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में स्थायी रूप से नियोजित, सेवानिवृत और पेंशन, पारिवारिक पेंशन प्राप्त करने वाला नहीं होना चाहिए.
– आयकर अदा नहीं करने वाला परिवार.
– आवेदक के परिवार से तात्पर्य-पति,पत्नी,नाबालिग बच्चे,दिव्यांग बच्चे.
– जन लाभुको को महिला,बाल विकास एवं सामजिक सुरक्षा विभाग झारखंड द्वारा संचालित किसी अन्य सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना का लाभ पूर्व से प्राप्त हो रहा हो उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान नहीं किया जायेगा.
– जिन लाभुकों को महिला बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना का लाभ पूर्व से प्राप्त हो रहा है उन्हें पूर्ववत योजना का लाभ प्राप्त होता रहेगा तथा वे इस योजना के लाभार्थी के रूप में माने जायेंगे. वर्तमान स्वरूप के लागू होने के बाद स्वीकृत आवेदन,पेंशनधारी पर लागू होगा.

इसे भी पढ़ें : विडंबना : प्रताड़ना की शिकार शिक्षिका को सार्वजनिक मंच से मिला मुआवजा, लेकिन आरोपी अधिकारी पर चार माह बाद भी कार्रवाई नहीं

Related Articles

Back to top button