न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झरिया : 25 लाख की लागत वाली सड़क पैदल चलने लायक भी नहीं, BCCL की हाइवा ने किया जर्जर

31

Dhanbad : धनबाद झरिया के बनियाहिर 4 नम्बर में दो साल पहले ग्रामीण विकास विभाग द्वारा करीब 25 लाख की लागत से पीसीसी सड़क बनाया गया था. सड़क बनने के बाद से इलाके के लोग खुश थे. क्योंकि ये ग्रामीण सड़क झरिया-सिंदरी मुख्य मार्ग को भी जोड़ता है. मगर दो साल बीतते ही उनकी खुशियों को जैसे नजर लग गयी. सड़क की हालत ऐसी हो गयी है कि उसपर पैदल चलने के लिए भी सोचना पड़ता है.

बनियाहिर के स्थानीय लोगों का कहना है कि 25 लाख की लागत से बनी सड़क सिर्फ साल में ही जर्जर हो गयी. साथ ही स्थानीय लोगों ने बताया कि सड़क के जर्जर होने की मुख्य वजह बीसीसीएल    की बड़ी-बड़ी हाइवा है. जिससे दिन-रात इस सड़क पर कोयला ढोया जाता है.

लोगों ने बताया कि हाइवा इतनी तेज रफ्तार से इस रोड पर चलता है कि सभी डरे रहते हैं. हाइवा का ड्राइवर ज्यादा टिप मारने के लिए गाड़ी की रफ्तार तेज रखता है. वहीं सडक पर बड़े-बड़े गड्ढे भी बन गये हैं.

इसे भी पढ़ें –बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार का वार्ड 14/A बना वीआइपी,पैसे के बल पर मिलती है सारी सुविधाएं

हाइवा चलने से होता रहता है हादसा

स्थानीय लोगों का कहना है कि तेज रफ्तार हाइवा की वजह से झरिया-सिंदरी मुख्य मार्ग पर आये दिन हादसा होता रहता है. इसके अलावा हाइवा के परिचालन से धूल भी उड़ता है, जिससे सभी अलग ही परेशान हैं. वहीं कुछ महीने पहले ही एक शख्स की हाइवा की चपेट में आने से मौत भी हो चुकी है.

SMILE

लेकिन जिला प्रशासन ने अबतक नहीं जागा. कई बार इसके खिलाफ प्रदर्शन किया गया और लिखित आवेदन भी दिला प्रशासन को दिया गया. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. लोगों का आरोप है कि विरोध पर उल्टा उन्हें आशियाना उजाड़ने की धमकी दी जाती है.

उप विकास आयुक्त ने कहा

वहीं इसे लेकर न्यूज विंग संवाददाता ने उप विकास आयुक्त से बात की तो उन्होंने कहा कि सड़क बनाने का काम ग्रामीण विकास विभाग का है और अगर निगम सड़क बनाने की मांग की जायेगी तो विभाग मदद करेगा. साथ ही कहा कि  ग्रामीणों के लिए बनी सड़क पर बड़ी वाहनों को चलाना  सख्त मना है. अगर ऐसा किया जा रहा है तो जांचकर कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें –हाफिज सईद की गिरफ्तारी पर भारत ने कहा, इमरान विदेश जाने वाले हैं,  अच्छी छवि बनाना चाहते हैं, हम झांसे में नहीं आयेंगे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: