National

जोखिम पर जेट एयरवेज की उड़ानों की सुरक्षा, कंपनी के कर्मचारियों ने डीजीसीए को किया सूचित

New Delhi : जेट एयरवेज का अपने विमानों को उड़ान भरने से रोकने और उड़ानों को रद्द करने का सिलसिला जारी है. इसी बीच कंपनी के विमान रखरखाव इंजीनियरों के संघ ने विमानन क्षेत्र के नियामक नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) को मंगलवार को सूचना दी कि उन्हें तीन माह से पगार नहीं मिली है और उड़ानों की सुरक्षा जोखिम में है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ें- रेलवे, फोर लेन सड़क व ट्रांसमिशन लाइन के लिए वन विभाग ने 248.44 एकड़ जमीन का किया हस्तांतरण

विमानों की सुरक्षा जोखिम पर

जेट एयरक्राफ्ट इंजीनियर्स वेलफेयर एसोसिएशन (जेएएमईडब्ल्यूए) ने डीजीसीए को एक पत्र में लिखा है और कहा है कि हमारे लिए अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा करना मुश्किल हो गया है. इसके परिणामस्वरूप विमान इंजीनियरों की मनोवैज्ञानिक स्थिति पर बुरा प्रभाव पड़ा है और यह उनके काम को भी प्रभावित करता है. ऐसे में देश और विदेश में उड़ान भरने वाले जेट एयरवेज के विमानों की सुरक्षा जोखिम पर है.

इसे भी पढ़ें- योगी सरकार के दो सालः पटरी पर लौटी कानून-व्यवस्था, 73 अपराधी ढेर- सीएम

Samford

क्या कहना है विमान के इंजीनियर्स का

पत्र के अनुसार जहां वरिष्ठ प्रबंधन कारोबार में समाधान के तौर-तरीके खोज रहे हैं. हम इंजीनियर पिछले सात माह से समय से वेतन नहीं मिलने से बहुत दबाव में हैं और विशेष तौर पर तीन महीने से तो हमें वेतन मिला ही नहीं है. हम विमानों की जांच करते हैं, उनकी मरम्मत करते हैं और यह प्रमाणित करते हैं कि विमान उड़ने लायक है या नहीं.

इसे भी पढ़ें- अनिल अंबानी को जेल जाने से मुकेश ने बचाया, मदद के लिए भैया-भाभी को कहा शुक्रिया

डीजीसीए से हस्तक्षेप की मांग

नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने सोमवार को अपने चार और विमानों को उड़ान भरने से रोक दिया था. पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने के चलते उसके परिचालन से बाहर हुए कुल विमानों की संख्या 41 हो गयी है. जेएएमईडब्ल्यूए ने इस मामले में डीजीसीए से हस्तक्षेप की मांग की है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: