न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेट एयरवेज हो सकता है बंद, मैनेजमेंट ने बोर्ड को दिया प्रस्ताव, समीक्षा के निर्देश

18

New Delhi : जेट एयरवेज गंभीर वित्तीय संकट से गुजर रही है और दस से भी कम विमानों का परिचालन कर रही है. इसके अलावा उसने अंतरराष्ट्रीय परिचालन को भी अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है. इसी को लेकर जेट एयरवेज पर बंद होने का खतरा मंडराने लगा है.

जेट में हिस्सेदारी की बिक्री पर भी पानी फिरता नजर आ रहा है. क्योंकि नरेश गोयल का प्रतिनिधित्व करने वाली तीन कंपनियों के समूह ने बोली प्रक्रिया से अपना हाथ खींच लिया है. कंपनी के एक व्यक्ति का कहना है कि कंपनी बहुत ही मुश्किल से विमानों के तेल का खर्चा उठा पा रही है. जेट अपने ग्राहकों को नहीं ठगना चाहता है और ना ही उन्हें किसी भी प्रकार के भ्रम में रखना चाहता है कि कंपनी का संचालन अभी भी हो रहा है.

इधर कंपनी के मैनेजमेंट बोर्ड ने कहा है कि कंपनी का संचालन पूरी तरह से बंद किया जाए. क्योंकि कंपनी को जिन बैंकों के द्वारा जो फंडिंग किया जा रहा था उसमें एब मुश्किल नजर आ रही है.

hosp3

इसे भी पढ़ें- मस्जिदों में महिलाओं की एंट्री का मामलाः याचिका पर SC का केन्द्र को नोटिस

सुरेश प्रभु ने जेट एयरवेज से जुड़े मुद्दों की समीक्षा का निर्देश दिया

नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने विमान किरायों में वृद्धि और उड़ानों के रद्द होने सहित संकटग्रस्त जेट एयरवेज से जुड़े विभिन्न मुद्दों की समीक्षा का निर्देश दिया है. प्रभु ने नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खारोला को यात्रियों के अधिकार और सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया.

प्रभु ने ट्वीट कर कहा कि नागर विमानन मंत्रालय के सचिव को उड़ान की कीमतों में इजाफा, उड़ानों के रद्द होने और जेट एयरवेज से जुड़े मुद्दों की समीक्षा का निर्देश दिया है. मंत्री ने सभी हितधारकों से यात्रियों के हित में काम करने का भी आह्वान किया.

इसे भी पढ़ें- घाटे के मामले में इंडिया पोस्ट ने एयर इंडिया और BSNL को भी पीछे छोड़ा, हुआ 15 हजार करोड़ का घाटा

पायलटों ने की अपील

गौरतलब है कि संकट से जूझ रही विमानन कंपनी जेट एयरवेज के पायलटों के संगठन ने भारतीय स्टेट बैंक से 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की सोमवार को अपील की थी. संगठन ने कंपनी में काम कर रहे 20 हजार लोगों की नौकरियां बचाने की भी अपील प्रधानमंत्री से की.

उन्होंने कहा कि हम कंपनी का परिचालन जारी रखने के लिये भारतीय स्टेट बैंक से 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की अपील करते हैं. हम प्रधानमंत्री से भी अपील करते हैं कि वे कंपनी में काम कर रहे 20 हजार लोगों की नौकरियां बचाएं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: