न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेट एयरवेज के डिप्टी CEO व CFO ने दिया इस्तीफा

76

Mumbai : वित्तीय संकट से जूझ रही विमानन कंपनी जेट एयरवेज के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) अमित अग्रवाल ने इस्तीफा दे दिया है. विमानन कंपनी ने मंगलवार को बताया कि अग्रवाल का इस्तीफा 13 मई से प्रभावी है.

इसे भी पढ़ेंःनीतीश को छोटा भाई समझते हुए लालू ने लिखा पत्र, कहा- लगता है तुम्हें उजालों से नफरत हो गयी है

व्यक्तिगत कारणों से दिया इस्तीफा 

जेट एयरवेज ने एक नियामक दाखिल में कहा कि हम सूचित करना चाहते हैं कि कंपनी के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सीएफओ अमित अग्रवाल ने व्यक्तिगत कारणों से अपने पद से इस्तीफा दे दिया है जो 13 मई से प्रभावी है.

विमानन कंपनी ने मध्य अप्रैल में नकदी की समस्या के कारण अस्थायी तौर पर परिचालन बंद कर दिया था. पिछले एक महीने में कंपनी के अधिकतर बोर्ड सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है.

गौरतलब है कि कंपनी पर वर्तमान में नौ हजार करोड़ रुपये का कर्ज है. एयर इंडिया को रोजाना छह करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा था. नौ हजार करोड़ रुपये के कर्ज वाली कंपनी को अगर किसी ने मदद नहीं की, तो फिर यह हमेशा के लिए भी बंद हो सकती है.

Related Posts

वैश्विक मंदी से बचने की सरकार की कवायद, सीतारमण की बैंकों को 70,000 करोड़ देने की घोषणा

70,000 करोड़ रुपये के पैकेज से वित्तीय व्यवस्था में 5 लाख करोड़ रुपये का कैश फ्लो होगा.  वित्त मंत्री ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इकॉनमी का एक प्रेजेंटेशन भी दिया.

SMILE

हालांकि चुनाव के कारण अब एयर इंडिया को मदद देने के फैसला जून में ही हो पायेगा. केंद्र की नयी सरकार ही कोई फैसला कर पायेगी.

इसे भी पढ़ेंःPM मोदी 15 मई को देवघर में करेंगे जनसभा, पांच IPS व 37 DSP संभालेंगे सुरक्षा की कमान

नौकरियां बचाने की अपील की गयी थी

संकट से जूझ रही विमानन कंपनी जेट एयरवेज के पायलटों के संगठन ने पिछले महीने भारतीय स्टेट बैंक से 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की अपील की थी. संगठन ने कंपनी में काम कर रहे 20 हजार लोगों की नौकरियां बचाने की भी अपील प्रधानमंत्री से की.

उन्होंने कहा कि हम कंपनी का परिचालन जारी रखने के लिये भारतीय स्टेट बैंक से 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की अपील करते हैं. हम प्रधानमंत्री से भी अपील करते हैं कि वे कंपनी में काम कर रहे 20 हजार लोगों की नौकरियां बचाएं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: