Main SliderNational

JEE – NEET का विरोध: सोनिया के साथ 7 राज्यों के सीएम की बैठक, ममता बोलीं- परीक्षा रद्द कराने के लिए एक साथ चलें सुप्रीम कोर्ट

New Delhi. जेईई (JEE) और नीट (NEET) एग्जाम 2020 के आयोजन पर विपक्ष एकजुट हो गया है. बुधवार को गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ सोनिया गांधी ने बैठक की. इस बैठक में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा- हमें एक साथ सुप्रीम कोर्ट चलना होगा और परीक्षा रद्द कराने की कोशिश करनी होगी.

 

सात राज्यों के सीएम के साथ मीटिंग

सोनिया गांधी की अध्यक्षता में इस बैठक में 7 राज्यों के सीएम ने हिस्सा लिया. इस बैठक में सभी गैर भाजपा शासित राज्यों के सीएम मौजूद थे. सोनिया गांधी ने कहा- नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति हमें चिंतित कर सकती है. छात्रों और परीक्षाओं की अन्य समस्याओं का भी ठीक तरह से निपटारा नहीं किया जा रहा है.

 

 

बैठक में किसने क्या कहा?

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- राज्य सरकारों को कमजोर किया जा रहा है. हम उस ओर बढ़ रहे हैं, जहां पर सिर्फ एक ही व्यक्ति सब कुछ कंट्रोल कर रहा है.
पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कोरोना से हालात बदतर होते जा रहे हैं. हम करीब 500 करोड़ रुपए खर्च चुके हैं. हमें प्रधानमंत्री से बात करने के लिए एक साथ आना चाहिए.
झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा- मुझे लगता है कि सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने से पहले हमें प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति के पास जाना चाहिए.

 

 

ममता ने लिखा था पत्र

इससे पहले पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को एक लेटर लिखा था, इस लेटर में उन्होंने पीएम से अपील करते हुए कहा था कि मैं आपसे मांग करती हूं कि परीक्षा को रद्द कर दिया जाए.

तय समय में होगी परीक्षा

वहीं, इससे पहले शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा था कि कोरोना महामारी के बीच इंजीनियरिंग और मेडिकल पाठ्यक्रमों के लिए ऑल इंडिया लेवल पर एग्जाम कराने का बचाव किया है. उन्होंने कहा था कि पैरेंट्स और स्टूडेंट्स लगातार दबाव बना रहे हैं वो परीक्षाएं चाहते हैं. जेईई एग्जाम के लिए 80% छात्र पहले ही एडमिट कार्ड डाउनलोड कर चुके हैं. परीक्षाएं तय समय में ही होंगी.

 

 

कब होनी है परीक्षा

बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी जेईई-मेन और नीट एग्जाम कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है. जेईई मेन एग्जाम 1 से 6 सितंबर तक होंगे, जबकि NEET की परीक्षा 13 सितंबर को होगी. इसेस पहले नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने कहा था कि कोरोना संक्रमण में बचाव का विशेष ध्यान रखा जाएगा. एग्जाम सेंटर पर सभी छात्र, फैकल्टी और स्टाफ को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा. 6 फीट की दूरी बनाकर रखनी होगी.

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: