Education & CareerJharkhandLead NewsRanchi

जेईई मेन स्कोर ही होगा झारखंड के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन का मापदंड

Ranchi : झारखंड में चल रहे इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन का मापदंड जेईई मेन स्कोर ही होगा. किसी दूसरे माध्यम से नामांकन नहीं लिया जायेगा.

झारखंड संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता पर्षद (जेसीईसीईबी) ने इस बात सूचना जारी कर दी है. जेसीईसीईबी ने एकेडमिक इयर 2021-22 में एडमिशन को लेकर नोटिस जारी किया है.

advt

बताते चलें कि राज्य में 17 इंजीनियरिंग कॉलेज हैं, जिसमें से राज्य सरकार का अपना एक संस्थान है. तीन इंजीनियरिंग कॉलेज पीपीपी मोड पर टेक्नो इंडिया की मदद से चला रहा है. 13 प्राइवेट तकनीकी संस्थान हैं. इन 17 इंजीनियरिंग कॉलेजों में 4725 सीटें हैं.

इसे भी पढ़ें:सलूजा स्टील के निदेशक को फोन पर धमकाने वाले ‘पत्रकार’ शादाब खान पर केस दर्ज

क्या है नोटिस में

जेसीईसीईबी ने अपने नोटिस में स्पष्ट कहा है कि इंजीनियरिंग कॉलेजों में जेईई मेन स्कोर से एडमिशन लिया जायेगा. इस साल से एक वर्ष में चार बार जेईई मेन की परीक्षा ली जा रही है.

इन चार बार होने वाली किसी भी एक परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स झारखंड के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन ले सकते हैं. यहां के संस्थानों में एडमिशन के लिए स्टेट मेरिट लिस्ट जारी किया जायेगा. इसी के आधार पर एडमिशन लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:DMF मद में झारखंड को मिले 6533 करोड़ रुपए, धनबाद को सबसे ज्यादा 1633 करोड़ का आवंटन

कहां हैं कितनी सीटें

  • बीआइटी सिंदरी : 680
  • यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, हजारीबाग : 210
  • रामगोविंद इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कोडरमा : 336
  • गुरुगोविंद सिंह एजुकेशनल सोसाइटी, टेक्निकल कैंपस, बोकारो : 240
  • आरटीसी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलोजी, रांची : 240
  • बीए कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, जमशेदपुर : 174
  • केके कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट, धनबाद : 420
  • आरवीएस कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, जमशेदपुर : 350
  • सीआइटी, टाटीसिल्वे, रांची : 390
  • डीएवी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, पलामू : 180
  • निलेय एजुकेशन ट्रस्ट (ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन), ठाकुरगांव, रांची : 300
  • मैरीलैंड इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट, जमशेदपुर : 225
  • अवध इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी : 60
  • अवध कॉलेज ऑफ़ आर्किटेक्चर, जमशेदपुर : 20
  • दुमका इंजीनियरिंग कॉलेज : 300
  • चाईबासा इंजीनियरिंग कॉलेज : 300
  • रामगढ़ इंजीनियरिंग कॉलेज : 300

इसे भी पढ़ें:गहना घर गोली कांड : डेढ़ साल से इंसाफ का इंतजार, अपराधियों तक नहीं पहुंच सकी पुलिस

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: