Education & CareerJharkhandLead NewsRanchi

JEE Main 2022 : नये पैटर्न पर उम्मीदवारों को देनी होगी परीक्षा, स्टूडेंट्स अपनी मर्जी से नहीं सेलेक्ट कर पायेंगे एग्जाम सेंटर

Ranchi : देशभर के एनआईटी सहित अन्य तकनीकी संस्थानों में एडमिशन की उम्मीद रखे स्टूडेंट्स के लिए यह अहम खबर है. एनआइटी सहित अन्य तकनीकी संस्थानों में एडमिशन के लिए जेईई मेन परीक्षा ली जाती है. अब तक यह परीक्षा एक साल में चार बार ली जाती थी जो अब दो बार ली जायेगी. इसके अलावा इस परीक्षा में कई नयी बातों से स्टूडेंट्स को रूबरू होना होगा. ये सभी नयी बातें इसी साल से लागू की गयी हैं.
जानिए जेईई मेन परीक्षा की नयी बातों के बारे में:

अब प्रत्येक प्रश्न पर नेगेटिव मार्किंग

इस बार की परीक्षा में स्टूडेंट्स को एक सही उत्तर देने पर चार अंक एवं गलत उत्तर देने पर एक अंक की निगेटिव मार्किंग तो होगी हीं, लेकिन इस वर्ष निगेटिव मार्किंग प्रणाली प्रत्येक प्रश्न पर लागू होगी. अब तक न्यूमेरिकल वैल्यू बेस्ड प्रश्नों पर निगेटिव मार्किंग नहीं होती थी. लेकिन इस साल से सभी प्रश्न इसके दायरे में आयेंगे. इसकी जानकारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने जेईई मेन की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी है. इस बार जेईई मेन की परीक्षा पैटर्न में बदलाव भी कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें :  CORONA UPDATE: फिर पांव पसारने लगा कोरोना, फेस्टिवल में अलर्ट रहने की सलाह

इस बार दिए गये पते के अनुसार होगा परीक्षा केंद्र

एनटीए के मुताबिक इस बार जेईई मेन परीक्षार्थी अपनी पसंद के हिसाब से परीक्षा केंद्र नहीं चुन पायेंगे. उन्होंने आवेदन पत्र में दिये गये पता के आधार पर ही परीक्षा केंद्र आवंटित किया जाएगा. पिछले दो सालों से कोरोना के कारण एनटीए ने छात्रों को परीक्षा केंद्र चुनने का विकल्प दिया था. आवेदन के दौरान आधार की जानकारी भी मांगी जा रही है. वहीं, परीक्षा केंद्रों पर एडमिट कार्ड वाली फोटो की रियल टाइम क्रॉस चेकिंग होगी.

बी आर्क परीक्षा कंप्यूटर के अलावा पेन-पेपर पर भी

इस बार जेईई बी आर्क परीक्षा हाईब्रिड मोड में ली जायेगी. बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर पेपर में सीबीटी के अलावा पेन-पेपर मोड में भी परीक्षा देनी होगी. इसमें गणित, एप्टीट्यूड परीक्षण आदि के कुल 82 प्रश्न पूछे जायेंगे. साथ ही ए-4 आकार की ड्राइंगशीट पर पेन और पेपर मोड में भी कुछ सवाल हल करने होंगे. वहीं, बैचलर ऑफ प्लानिंग की परीक्षा सीबीटी आधारित होगी. इसमें गणित, एप्टीट्यूड व प्लानिंग विषयों पर आधारित कुल 105 प्रश्न पूछे जायेंगे.

इसे भी पढ़ें : चार राज्यों में बीजेपी की बढ़त: बिहार विधानसभा में लगे ‘जय श्रीराम’ के नारे

Related Articles

Back to top button