JharkhandMain SliderRanchi

बेरमो-दुमका उपचुनाव में बीजेपी को जदयू का समर्थन, दीपक बोले- ट्रांसफर-पोस्टिंग से कमा रहा JMM, इसी से राज्य पर पड़ा आर्थिक बोझ

  • प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष बोले- जमकर हो रही बालू की तस्करी भी JMM की आय का स्रोत

Ranchi : राज्य में बेरमो और दुमका विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर बीजेपी और जदयू ने एक-दूसरे का समर्थन करने की घोषणा की है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश और जदयू के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण सिंह ने शनिवार को संयुक्त प्रेसवार्ता में यह घोषणा की. जदयू पार्टी मुख्यालय में हुई प्रेसवार्ता में दीपक प्रकाश ने हेमंत सरकार पर कड़ा हमला बोला. उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार आज पैसा का रोना रो रही है, लेकिन इसी सरकार में ट्रांसफर-पोस्टिंग और बालू की तस्करी जेएमएम के लिए आय का स्रोत बन गयी है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ें – दुमका में बोले हेमंत- एसटी को 28, एससी को 12 और ओबीसी को 27 फीसदी देंगे आरक्षण, अगले एक महीने में 10 हजार लड़कियों को नौकरी

प्रकाश ने कहा कि कोरोना संकट में हेमंत सरकार में ट्रांसफर-पोस्टिंग का खेल धड़ल्ले से चल रहा है. बीते 10 माह में केवल 2200 से अधिक ट्रांसफर-पोस्टिंग ने राज्य को बड़ा आर्थिक बोझ दिया है. अवैध ओवरलोडिंग ढुलाई से संथाल की सड़कें जर्जर हो चुकी हैं. बालू की तस्करी जमकर हो रही है. दीपक प्रकाश ने कहा कि इस खेल का मुख्य संरक्षक जेएमएम है.

दीपक प्रकाश ने कहा कि आज का दिन झारखंड के लिए ऐतिहासिक है. आज जिस तरह जदयू ने बीजेपी को उपचुनाव में समर्थन दिया है, उससे तय है कि 10 महीने में ही महाठगबंधन सरकार से निजात पाने में जनता एनडीए का साथ देगी. उन्होंने कहा कि आज राज्य की स्थिति भयावह है. कानून-व्यवस्था नाम की यहां कोई चीज नहीं है.

Samford

इसे भी पढ़ें – कोडरमा : सोशल मीडिया पर जिप अध्यक्ष की बनायी मां दुर्गे की इस पेंटिंग को खूब मिल रहे हैं लाइक

इंतजार कीजिये, बेरमो-दुमका सीट जीतने के बाद सत्ता में आयेगा NDA

प्रकाश ने कहा कि मुख्यमंत्री को न तो न्यायालय पर भरोसा है, न संवैधानिक संस्थाओं पर. यहां तक कि सीएम को अब खुद पर भी भरोसा नहीं रह गया है. इसी लिए वह प्रधानमंत्री जी से भी अकेले में नहीं, बल्कि पूरी कैबिनेट के साथ मिलना चाहते हैं. दीपक प्रकाश ने दावा किया कि दोनों सीटों को जीतने के बाद एनडीए सत्ता में आयेगा, बस समय का इंतजार कीजिये. ऐसी जनविरोधी, महिला विरोधी, किसान विरोधी, युवा विरोधी, वंशवाद की पोषक सरकार को हटाने के लिए जदयू-बीजेपी सहित आजसू, जेएमएम उलगुलान, लोजपा, सब मिलकर संघर्ष करेंगे.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीहः नेशनल हाईवे में दो ट्रकों के सीधी टक्कर में एक चालक की मौत, घटनास्थल पर लगा लंबा जाम

राज्य की बेटी-बहनों से माफी मांगें हेमेंत सोरेन

प्रकाश ने कहा कि राज्य में ऑन रिकॉर्ड 1200 से ज्यादा बलात्कार और हत्या की घटनाएं हुई हैं. इनमें पीड़ितों में ज्यादातर आदिवासी, दलित समाज की नाबालिग लड़कियां शामिल हैं. सीएम के विधानसभा क्षेत्र और राज्य की उपराजधानी दुमका में शायद ही ऐसी कोई जगह बची हो, जहां महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटना नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री दुर्गापूजा के अवसर पर पंडालों में घूम रहे हैं. अच्छा होता कि मां के असली रूप बेटियों की सुरक्षा का वह संकल्प लेते और अपनी सरकार की नाकामियों के लिए बेटी-बहनों से माफी मांगते.

इसे भी पढ़ें – उपचुनाव : जानिये चुनाव आयोग ने उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों की किस ‘मर्जी’ पर कस दी लगाम

अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए केंद्र पर दोष मढ़ रहे हेमंत

राज्य की आर्थिक स्थिति पर उन्होंने कहा कि अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए मुख्यमंत्री केंद्र पर दोषारोपण करते हैं. राज्य सरकार 10 महीनों में 20 फीसदी भी बजट को खर्च नहीं कर पायी है. खजाने में पैसे पड़े हैं और पैसे का रोना रोते हैं, क्योंकि इनकी नीयत और नीति, दोनों में खोट है. ऐसी निकम्मी सरकार को सत्ता में रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है.

इसे भी पढ़ें – मोदी सरकार की इस ‘हरकत’ के खिलाफ हेमंत सरकार के साथ खड़ा हुआ चैंबर, केंद्रीय मंत्री से कहा- एक बार सोच लें

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: