Bihar

जेडीयू प्रवक्ता ने ‘शूर्पणखा’ से की मीसा की तुलना, आरजेडी का पलटवार

Patna: लोकसभा चुनाव अपने शिखर पर है. दो चरणों के लिए प्रचार का प्रचंड दौर जारी है. वहीं बयानों के तीर भी खूब छोड़े जा रहे हैं. इसी बीच जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह के एक बयान ने बिहार की राजनीति गरमा दी है.

जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने आरजेडी प्रमुख लालू यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती की तुलना शूर्पणखा से की है. संजय सिंह के इस बयान पर आरजेडी हमलावर है.

इसे भी पढ़ेंःखूंटी के कोचांग में सामूहिक दुष्कर्म मामले में फादर अल्फांसो दोषी करार, कोर्ट से ही भेजा गया जेल

advt

क्या कहा संजय सिंह ने

जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा, “जिस तरह से शूर्पणखा अपने भाई रावण और विभीषण के बीच झगड़ा लगवाती थी. वही काम मीसा अपने दोनों भाई तेजस्वी और तेज प्रताप के बीच कर रही हैं. दोनों के बीच झगड़ा लगवा रही हैं.”

जेडीयू नेता का ये बयान मीसा भारती के उस बयान पर प्रतिक्रिया के तौर पर सामने आया है. जिसमें उन्होंने दोनों भाईयों को एक जैसा बताया. लेकिन लालू यादव के उत्तराधिकारी के तौर रक छोटे भाई तेजस्वी को ज्यादा योग्य करार दिया. ज्ञात हो कि तेजप्रताप ने कहा था कि वो ही बिहार के दूसरे लालू हैं.

राजद का पलटवार

इस बयान पर आरजेडी जेडीयू पर हमलावर है. राजद विधायक विजय प्रकाश ने जदयू की तुलना राक्षसी समाज से की. वहीं, हम (से.) के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि यह बयान सिर्फ मीसा भारती ही नहीं, बल्कि पूरे महिला समाज को अपमानित करने वाला है.

इसे भी पढ़ेंःइधर भी एनडीए और उधर भी एनडीए की सरकार, फिर भी नहीं सलटा नदियों के पानी का मामला

तेजस्वी पर भी निशाना

जदयू नेता संजय सिंह ने तेजस्वी यादव द्वारा ’23 मई को भाजपा के जाने और भूचाल आने’ के बयान पर भी ट्वीट कर निशाना साधा है. संजय सिंह ने कहा, “तेजस्वी जी, 23 मई को वाकई भूचाल आएगा. लेकिन उसका केंद्र बिंदु आपका परिवार होगा. चुनाव परिणाम आने के साथ देश एनडीए की जीत का गवाह बनेगा, लेकिन बिहार की जनता आपके परिवार में टूट को देखेगी. तेजस्वी जी, 23 मई को आपका परिवार दो फाड़ हो जाएगा.”

आगे अपने बयान में संजय सिंह ने कहा, “जिस बड़े भाई को आपने चुनाव प्रचार के लिए हैलीकॉप्टर तक में जगह नहीं दी, वही भाई परिवार में अपने हक के लिए आपसे टकराएगा. भाइयों और बहन के बीच बर्चस्व की लड़ाई चुनाव नतीजों के साथ सामने आ जायेगी.

इसे भी पढ़ेंःदिल्ली हाईकोर्ट से आप विधायक सोमनाथ भारती को बड़ी राहत, घरेलू हिंसा का केस रद्द

तेजस्वी जी, 23 मई 2019 की तारीख आप कभी नहीं भूल पाएंगे क्योंकि परिवार के अंदर से शुरू हुआ संघर्ष आपकी पार्टी को कितने टुकड़ों में बांट देगा, इसका अंदाज़ा भी आप नहीं लगा सकते. राजद पर कब्जे की लड़ाई का इंतजार करिए.”

गौरतलब है कि लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप इन दिनों बागी बने हुए हैं. तेज प्रताप ने पार्टी के खिलाफ जाते हुए शिवहर और जहानाबाद में अपने प्रत्याशी भी खड़े किए.

हालांकि, शिवहर में उनके प्रत्याशी अंगेश कुमार का नामांकन रद्द हो गया. जबकि, जहानाबाद से उम्मीदवार चंद्र प्रकाश के पक्ष में तेजप्रताप चुनावी अभियान भी चला रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःसाध्वी प्रज्ञा की तुलना रावण से कर फंसे जावेद अख्तर, आपराधिक मानहानि का केस दर्ज

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: