Khas-KhabarRanchi

JBVNL फिर से निकालेगा टेंडर, रांची समेत अन्य सर्किलों में भी लगाये जायेंगे स्मार्ट मीटर

जेबीवीएनएल के बोर्ड में प्रस्ताव भेजने की हो रही तैयारी, स्वीकृति के बाद निकलेगा टेंडर

Ranchi: झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड की ओर से स्मार्ट मीटर लगाने की पहल की गयी. पिछले कुछ सालों से जेबीवीएनएल इस पर काम कर रहा है. यह तय हो गया था कि रांची जिला में स्मार्ट मीटर लगाये जायेंगे. लेकिन अब जेबीवीएनएल ने इस योजना में बदलाव किया है. जेबीवीएनएल अब स्मार्ट मीटर के लिये फिर से टेंडर निकालने वाला है. लेकिन इस बार सिर्फ रांची शहर के लिये नहीं, बल्कि अन्य जिलों के लिये भी.

इसे भी पढ़ेंःचीन विवाद: राहुल के आरोप पर शाह का पलटवार, कहा- न करें ओछी राजनीति 

जेबीवीएनएल की मानें तो राज्य के अलग-अलग सर्किल में भी स्मार्ट मीटर लगाये जायेंगे. आंकलन है कि अन्य सर्किल को भी स्मार्ट मीटर से जोड़े जाने के बाद राज्य में स्मार्ट मीटर युक्त उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 15 से 20 लाख तक हो सकती है. फिलहाल पहले के टेंडर पर काम नहीं किया जा रहा है. एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर केके वर्मा ने जानकारी दी कि नये टेंडर को जेबीवीएनएल के बोर्ड में लाया जायेगा. जहां से इसे स्वीकृति मिलने के बाद निकाला जायेगा.

advt

प्रीपेड होंगे सभी मीटर

जेबीवीएनएल की मानें तो कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन के दौरान राजस्व वसूली में घाटा हुआ. लक्ष्य के अनुसार जेबीवीएनएल को राजस्व की प्राप्ति नहीं हुई. राजस्व में कमी के कारण बिजली वितरकों को भुगतान तक करने में परेशानी हो रही है. जिससे निर्णय लिया गया कि अब अन्य सर्किलों में भी स्मार्ट मीटर की सुविधा दी जायेगी. टेंडर होने के बाद ही अन्य शर्तों की जानकारी होगी.

नयी येाजना के तहत सभी मीटर प्री पेड होंगे. जिससे उपभोक्ता पूर्व में ही बिजली बिल भुगतान कर देंगे. ऐसा करने से जेबीवीएनएल को राजस्व में घाटा भी नहीं होगा. फिलहाल किन-किन सर्किलों को इस योजना से जोड़ा जायेगा, इस पर टेंडर के बाद ही सहमति बनेगी.

इसे भी पढ़ेंः केंद्र का राज्यों फरमान, कहा- सख्ती से पालन हो होम क्वॉरेंटाइन के निर्देश

रांची में रिप्लेस होने थे 3 लाख 50 हजार स्मार्ट मीटर

पूर्व में जेबीवीएनएल की योजना थी कि रांची जिला में 3 लाख 50 हजार स्मार्ट मीटर बदले जायेंगे. इसके लिये उपभोक्ताओं को एक रूपया भी नहीं देना था. सभी मीटर प्री पेड ही होते है. रांची जिला के लिये टेंडर कर लिया गया था. लेकिन लॉकडाउन के बाद जेबीवीएनएल ने री टेंडर करने की योजना बनायी है. यह व्यवस्था सिर्फ शहरी क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिये होगी. नयी टेंडर से उम्मीद है कि देवघर, धनबाद, हजारीबाग और रामगढ़ में भी ये पहल की जायेगी. रांची शहर के लिये यह योजना के लिये वर्ल्ड बैंक ने फंडिंग की थी.

adv

इसे भी पढ़ेंःCorona के ब्राजील में 10 लाख से ज्यादा हुए केस, दुनिया में दूसरा सबसे अधिक प्रभावित देश

advt
Advertisement

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button