JharkhandRanchi

जेबीवीएनएल ने कहा- बिजली दामों में कमी की जानी चाहिये, इनलैंड ने कहा- 20 प्रतिशत ही मिल रहा कोयला

जेबीवीएनएल ने कहा- बिजली दामों में कमी की जानी चाहिये, इनलैंड ने कहा- 20 प्रतिशत ही मिल रहा कोयला

Ranchi. इनलैंड पावर लिमिटेड की जनसुनवाई गुरुवार को की गयी. विद्युत नियामक आयोग कार्यालय की ओर से वर्चुअल जनसुनवाई बुलायी गयी. जनसुनवाई इनलैंड पावर प्लांट के वार्षिक ऑडिटिंग के लिये की गयी. इनलैंड पावर लिमिटेड की बिजली जेबीवीएनएल लेती है.

Jharkhand Rai

ऐसे में प्लांट के वार्षिक ब्यौरा पर जेबीवीएनएल की ओर से कई आपत्ति दर्ज की गयी. जेबीवीएनएल के जीएम कमिर्शयल ऋषिनंदन जनसुनवाई में शामिल हुए.

इसे भी पढ़ें- झारखंड में अब भाजपा विपक्ष में ही रहेगी, एमपी-राजस्थान की पटकथा नहीं लिखने देंगे: उमंग सिंघार

इस दौरान उन्होंने कहा कि इनलैंड पावर प्लांट काम तो ठीक कर रही है. लेकिन बिजली दामों में कमी की जानी चाहिये. प्लांट की बिजली जेबीवीएनएल खरीदती है, ऐसे में बिजली दाम बढ़ने से उपभोक्ताओं को नुकसान होता है. बिजली उत्पादन के लिये सही अनुपात में कोयला के इस्तेमाल में भी सवाल खड़े किये. जेबीवीएनएल की ओर से कहा गया कि कंपनी बिजली उत्पादन के लिये सही अनुपात में कोयला का इस्तेमाल नहीं करती. जिससे जेनरेशन प्रभावित होती है.

Samford

20 प्रतिशत ही मिल रहा कोयला
कोयला इस्तेमाल के लिये दर्ज की गयी आपत्ति का जवाब देते हुए इनलैंड पावर प्लांट की ओर से कहा गया कि जरूरत के अनुसार उन्हें कोयला नहीं मिल रहा. शक्ति स्कीम के तहत प्लांट को कोयला मिलता है. लेकिन उत्पादन के लिये जितनी जरूरत होती है, उतना कोयला नहीं मिल रहा.

इसे भी पढ़ें- मंत्री ने कहा- राज्य में सामुदायिक संक्रमण नहीं, लॉकडाउन को लेकर दिया बड़ा संकेत

कंपनी के अनुसार 20 प्रतिशत कोयला ही कंपनी को मिल रहा है. जिससे बिजली उत्पादन में परेशानी हो रही है. कंपनी की ओर से जानकारी दी गयी कि कंपनी इंप्रुव कर रही है. लेकिन कोयला की कमी के कारण उत्पादन प्रभावित हो रहा है.

सदस्य ने कहा तैयारी के साथ आते
जनसुनवाई के दौरान इंलैंड पावर प्लांट जेबीवीएनएल के सवालों का जवाब नहीं दे सकी. जिस पर विद्युत नियामक आयोग के सदस्य प्रवास सिंह की ओर से प्लांट अधिकारियों को तैयारी के साथ जनसुनवाई में शामिल होने की बात की गयी. साथ ही कम से कम दाम में बिजली उत्पादन करने और उपलब्ध कराने की बात की गयी.

आयोग की ओर से कंपनी से पूछा गया कि कंपनी की ओर से कितनी बिजली दरों में कमी की जा सकती है. कंपनी अधिकारियों ने जवाब दिया कि कितना कम होगा, वो समय पर देख लिया जायेगा. जिस पर आयोग सदस्य ने कहा कि तैयार क्यों नहीं की गयी. कितनी बिजली दरों में कमी की जायेगी इसका आंकलन भी कंपनी के पास नहीं है.

Advertisement

12 Comments

  1. I know this web site gives quality depending posts and
    additional stuff, is there any other site which gives these information in quality?

  2. Hello there! This article couldn’t be written much better!
    Looking through this post reminds me of my previous roommate!
    He always kept talking about this. I’ll send this
    information to him. Fairly certain he’ll have a great read.
    Many thanks for sharing!

  3. I have been surfing online more than 3 hours today, yet
    I never found any interesting article like yours.
    It is pretty worth enough for me. Personally, if
    all web owners and bloggers made good content as you did, the web will be a lot more useful than ever before.
    2CSYEon cheap flights

  4. I’m really enjoying the design and layout of your website. It’s a very easy on the eyes which makes it much more enjoyable
    for me to come here and visit more often. Did you hire out a
    designer to create your theme? Fantastic work!

  5. Ahaa, its pleasant dialogue on the topic of this article at this place at this web site, I
    have read all that, so now me also commenting here.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: