JharkhandLead NewsRanchi

एनटीपीसी को 122 करोड़ भुगतान करने की तैयारी में जेबीवीएनएल, बिजली कटेगी या नहीं ये तय नहीं

जेबीवीएनएल और एनटीपीसी के बीच हो रही वार्ता, डीवीसी का मामला अब भी लंबित

Ranchi: राज्य में बिजली आपूर्ति करने वाली दो बड़ी कंपनियां एनटीपीसी और डीवीसी लगातार बिजली कटौती को आतुर है. एक ओर डीवीसी नवंबर से राज्य के सात जिलों में बिजली कटौती कर रही है. वहीं, पिछले सप्ताह एनटीपीसी ने जेबीवीएनएल को राज्य में कटौती का नोटिस थमाया है. ऐसा बकाया राशि की वजह से हो रहा है. हालांकि, एनटीपीसी का कुल बकाया 122 करोड़ ही है. जेबीवीएनएल इस सप्ताह भुगतान करने की तैयारी में है. जेबीवीएनएल के एक अधिकारी ने यह दावा किया है.

इसे भी पढ़ें : Ranchi: बिरसा चौक-हरमू रोड से रातू रोड चौक तक बिजली के खंभों से केबल को आज से हटाएगा निगम

advt

जेबीवीएनएल की इस संबंध में एनटीपीसी के साथ वार्ता भी हुई है. लेकिन भुगतान तक बिजली कटौती की जायेगा या नहीं, इस पर स्पष्ट नहीं कहा जा सकता. मालूम हो कि एनटीपीसी राज्य भर में बिजली आपूर्ति करती है. सेंट्रल पुल के जरिये छह सौ मेगावाट राज्य को मिलती है. एनटीपीसी ने एक दिसंबर को जेबीवीएनएल को नोटिस दिया. जिसमें चार दिसंबर से कटौती की बात कही गयी है.

हर महीने 110 करोड़ की बिजली ली जाती है: जेबीवीएनएल हर महीने 110 करोड़ रूपये की बिजली एनटीपीसी से लेती है. जिसमें से 70 करेाड़ भुगतान सीधे किया जाता है. पिछले दो महीने से भुगतान नहीं होने के कारण बकाया अधिक हो गया. निगम कुछ राशि एनटीपीसी को इंस्टॉलमेंट में देती है.

इसे भी पढ़ें : बरतें सावधानी: ओमिक्रॉन वैरिएंट से फरवरी में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका

डीवीसी का मामला सरकार के पास: वहीं, डीवीसी राज्य में छह नवंबर से बिजली कटौती कर रही है. जिसका कुल बकाया लगभग 2500 करोड़ है. उर्जा विभाग की ओर से सीधे डीवीसी को बकाया भुगतान किया जाता है. जबकि पिछले साल नवंबर और इस साल जनवरी में केंद्र सरकार ने डीवीसी मद से कटौती की. जिसके बाद उर्जा विभाग की आरे से डीवीसी को एक सौ करोड़ हर महीने दिया जा रहा है. ऐसे में बकाया मांग के लिये डीवीसी पिछले महीने से बिजली कटौती कर रही है. फिलहाल मामला केंद्र सरकार के पास है.

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: