DhanbadJharkhand

धनबाद में बिजली चोरी पर रोक लगाने की जेबीवीएनएल कर रहा तैयारी, बनायी गयी योजना

राज्य भर के लिए मुख्यालय डेवलप कर रहा है सिस्टम

Ranchi : बिजली चोरी करने वालों को अब सर्तक होने की जरूरत है. जेबीवीएनएल मुख्यालय इसके लिए सिस्टम डेवलप कर रहा है. वहीं धनबाद में इसके लिए अलग से तैयारी की जा रही है. धनबाद के अलग अलग प्रखंडों में बिजली चोरी कम करने के लिए केबलिंग की तैयारी की जा रही है. धनबाद जेबीवीएनएल क्षेत्रीय कार्यालय की मानें तो जिला के अलग अलग हिस्सों में बिजली चोरी अधिक की जाती है. ऐसे में निगम को नुकसान होता है. एलटी बिजली तार की जगह केबलिंग होने से इस समस्या का समाधान होगा.

ऐसे में इलाके को केबलिंग युक्त किया जायेगा. जिससे हुंकिंग की संभावना न हो. हालांकि जिला में अंडरग्राउंड केबलिंग का भी जारी है. इसके बाद भी निगम की ओर से केबल तारों से बिजली देने की योजना बनायाी जा रही है.

इसे भी पढ़ें:ग्रामीण विकास योजनाओं में खर्च नहीं हुए 140 करोड़, राजकोष में होगी ट्रांस्फर

हर महीने साढ़े सात करोड़ की बिजली चोरी

जिला में हर महीने लगभग साढ़े सात करोड़ की बिजली चोरी होती है. वासेपुर, नया बाजार, पांडरपाल, तेनुघाट, झरिया, लोयाबाद, कतरास, मनइटांड, झरिया और ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा बिजली चोरी की जा रही है.

ऐसे में निगम एलटी तारों को बदल केबल करने जा रहा है. इसके साथ ही धनबाद के अलग अलग हिस्सों में जर्जर बिजली तार बदलने की तैयारी भी की जा रही है. जिससे बिजली आपूर्ति प्रभावित न हो.

इसे भी पढ़ें:झारखंड में अवैध हथियार सप्लाई के मामले में जेल में बंद अपराधियों से होगी पूछताछ

मुख्यालय बना रहा सिस्टम

बिजली चोरी नहीं हो, इसके लिए जेबीवीएनएल मुख्यालय की ओर से सिस्टम डेवलप किया जा रहा है. निगम केंद्र सरकार के साथ मिलकर इस पर काम कर रही है. जिससे राज्य के सभी ट्रांसफॉमरों में फीडर मीटर लगाने की योजना है. जिससे बिजली चोरी करने वाले उपभोक्ताओं के लोकेषन को ट्रैक किया जा सके.

इसे भी पढ़ें:NIA की पूछताछ में चौकाने वाले खुलासे, आतंकी जफर अब्बास साइबर क्राइम करने में भी एक्सपर्ट

Related Articles

Back to top button