Main SliderRanchi

हाईटेंशन बकायेदारों पर कार्रवाई के मूड में JBVNL, भुगतान नहीं किया तो अखबार में छपेगा नाम

Ranchi : हाईटेंशन बिजली उपभोक्ताओं को अब सर्तक होने की जरूरत है. झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड हाईटेंशन बिजली उपभोक्ता पर कार्रवाई के मूड में नजर आ रही है. इसके अलावा  जिनका बिजली बिल लंबे समय से बकाया है, उनपर भी गाज गिरने वाली है.

जेबीवीएनएल की ओर से इस संबध में सभी विद्युत अधीक्षण अभियंताओं को पत्र लिखा गया है. जिसमें आदेश दिया गया है कि ऐसे बिजली उपभोक्ताओं की सूची अखबारों में प्रकाशित की जाये. लेकिन इसके पहले इन उपभोक्ताओं को नोटिस देकर बिजली काटे जाने के लिए सूचित किया जाये.

पत्र में लिखा है कि अगर इसके बाद भी उपभोक्ता बिल नहीं भरते हैं तो उनका नाम समेत सभी जानकारियां अखबार में प्रकाशित की जाये. और ऐसा सूचित किया जाने के दो दिन बाद ही किया जाये. पत्र में JBVNL ने स्पष्ट किया है कि इसकी जवाबदेही क्षेत्रीय विद्युत अधीक्षण अभियंताओं की होगी.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – राज्यसभा चुनावः हेमंत सुदेश से क्या मिले, ‘बीजेपी’ की बैठक हो गयी ‘एनडीए’ विधायकदल की बैठक 

45 प्रतिशत रेवेन्यू मिला है हाईटेंशन कनेक्शन से

इस पत्र में जेबीवीएनएल की ओर से लिखा गया है कि हाईटेंशन कनेक्शनधारियों का रेवेन्यू कलेक्शन में अहम योगदान है. ऐसे कनेक्शन वाले उपभोक्ताओं से राजस्व में 45 प्रतिशत की प्राप्ति होती है. ऐसे में इनका बिजली बिल भुगतान किया जाना जरूरी है.

ध्यान देने वाली बात ये है कि जिन उपभोक्ताओं को बकाया भुगतान का नोटिस जारी होगा. वो  लॉकडाउन लागू होने से पहले का होगा. यानि कि लॉकडाउन के दौरान बंद रहे उद्योगों फर्म को इसमें  शामिल नहीं किया जायेगा.

चिन्हित कर होगी कार्रवाई, तारीख तय नहीं

जेबीवीएनएल के ईडी केके वर्मा ने कहा कि उपभोक्ताओं को जागरूक करने का यह तरीका है. ताकि उपभोक्ता अपनी जिम्मेवारी समझे. बकायेदार चुप नहीं रह सकते हैं. ऐेसे में हर तरह से समस्या होगी.

जेबीवीएनएल के पास बिजली वितरण कंपनियों का भी दबाव रहता है. लॉकडाउन के दौरान बकाया बिल में वृद्धि भी हुई है. ऐसे में सबकी सुविधा को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है. विद्युत अधीक्षण अभियंता इस कार्य के लिए जवाबदेह हैं. अपने स्तर से ऐसे उपभोक्ताओं को चिन्हित कर वे नोटिस देंगे. इसके लिए तारीख तय नहीं है.

इसे भी पढ़ें –क्या ऐसे होंगी महिलाएं आत्मनिर्भर? सिलाई प्रशिक्षण केंद्र पर उद्घाटन के दूसरे दिन ही लटका ताला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button