न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेबीवीएनएल ने नहीं किया बकाये का भुगतान तो 25 फरवरी से 50 प्रतिशत बिजली देगा डीवीसी

318
  • 600 की जगह राज्य को मिलेगी 300 मेगावाट बिजली
  • जेबीवीएनएल से मिली वित्तीय स्वीकृति, 25 फरवरी से पहले होगा भुगतान

Ranchi: दामोदर वैली कारॅपोरेशन (डीवीसी) की ओर से 25 फरवरी से बिजली आपूर्ति आधी कर दी जायेगी. झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड को डीवीसी ने पिछले दिनों इसकी सूचना दी. जिसमें बताया गया कि 25 फरवरी से डीवीसी बिजली में 50 प्रतिशत कटौती करेगा.

डीवीसी की ओर से रोजाना 600 मेगावाट बिजली जेबीवीएनएल को दी जाती है. जबकि 25 फरवरी से डीवीसी 300 मेगावाट बिजली ही जेबीवीएनएल को देगा. जेबीवीएनएल को डीवीसी की ओर से लिखे पत्र में बकाया भुगतान करने को कहा गया है. हालांकि डीवीसी ने जेबीवीएनएल को इसके लिए 15 दिन का ही समय दिया था.

जेबीवीएनएल के पास डीवीसी के 4995 करोड़ रुपये बकाया हैं. जिसका जेबीवीएनएल ने भुगतान नहीं किया. ऐसे में पंद्रह दिनों का समय डीवीसी ने दिया है. बता दें डीवीसी की ओर से जिला के सात जिलों में बिजली आपूर्ति की जाती है.

इसे भी पढ़ें – कभी एस्कॉर्ट लेकर चलनेवाले विधायक ढुल्लू महतो आज बगैर बॉडीगार्ड के गुपचुप तरीके से हुए फरार

hotlips top

मिली वित्तीय स्वीकृति

डीवीसी ने पिछले नवंबर में जेबीवीएनएल से बकाये की मांग की. जबकि इसके पहले ही बजट सत्र खत्म हो चुका था. ऐसे में जेबीवीएनएल की ओर से ऊर्जा विभाग को बजट सत्र के बाद बकाये की जानकारी दी गयी. हालांकि साल 2019 -20 के लिए 2200 करोड़ का आवंटन किया गया था. लेकिन सरकार की ओर से यह भुगतान नहीं किया गया.

वित्तिय वर्ष 2020-21 के लिए 2000 करोड़ डीवीसी को भुगतान करने की योजना बनायी जा रही है. नवंबर के पहले जेबीवीएनएल को 4295 करोड़ रुपये डीवीसी को दिये जाने थे. पिछले दो माह में भुगतान में लगभग सात सौ करोड़ का इजाफा हुआ. जिसके कारण कुल बकाया 4995 करोड़ रुपये है.

30 may to 1 june

जेबीवीएनएल की ओर से डीवीसी को भुगतान करने की प्रक्रिया जारी है. वरीय सूत्रों से जानकारी मिली कि पूरा तो नहीं लेकिन 25 फरवरी के पहले कुछ भुगतान किया जायेगा. जेबीवीएनएल में वित्तीय स्वीकृति मिल गयी है. भुगतान जेबीवीएनएल कर रहा है. ऊर्जा विभाग से फंड की मांग नहीं की गयी है.

इसे भी पढ़ें – पलामू: अधिवक्ताओं का कार्य बहिष्कार चौथे दिन भी रहा जारी, ताइद संघ ने भी दिया समर्थन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like