Sports

दो साल के बैन पर बोले जयसूर्याः फैसला दुर्भाग्यपूर्ण, ICC के पास सबूत नहीं

Columbo: आईसीसी ने श्रीलंकाई क्रिकेटर सनत जयसूर्या पर मंगलवार को दो साल के लिए बैन लगाया है. उन्हें आईसीसी भ्रष्टाचार निरोधक इकाई (एसीयू) की दो संहिताओं के उल्लंघन का दोषी पाया गया है. इस प्रतिबंध के बाद 49 साल के जयसूर्या 2021 तक क्रिकेट से जुड़ी किसी भी तरह की गतिविधि में भाग नहीं ले सकते हैं. वहीं आईसीसी के फैसले को जयसूर्या ने दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि बोर्ड के पास उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं था.

फैसला दुर्भाग्यपूर्ण- जयसूर्या

भ्रष्टाचार निरोधक जांच में अड़चन डालने के लिये मंगलवार को दो साल के लिये प्रतिबंधित किये गये सनथ जयसूर्या ने इस फैसले को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया और दावा किया कि आईसीसी के पास उनके खिलाफ ‘भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी या आंतरिक सूचना के दुरूपयोग’ कोई सबूत नहीं है. श्रीलंकाई क्रिकेट में बड़े स्तर पर फैले भ्रष्टाचार की आईसीसी की जांच के दौरान जयसूर्या से पूछताछ की गयी थी. उन्हें आईसीसी आचार संहिता के अनुच्छेद 2.4.6 और 2.4.7 के उल्लंघन का दोषी पाया गया है.  इसमें अनुच्छेद 2.4.6 बिना किसी उचित कारण के एसीयू की किसी जांच में सहयोग नहीं करना या उसमें नाकाम रहने तथा अनुच्छेद 2.4.7  एसीयू की किसी जांच में देरी या बाधा पहुंचाने से संबंधित हैं.
जयसूर्या ने कहा, ‘ यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भले ही मैंने अधिकारियों द्वारा मांगी गयी सारी जानकारी आईसीसी एसीयू को उपलब्ध करायी थी लेकिन आईसीसी एसीयू ने मुझ पर संहिता के तहत आरोप लगाना उचित समझा हालांकि भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी या आंतरिक सूचना के दुरूपयोग का कोई आरोप नहीं था.’
जयसूर्या ने कहा कि उन्होंने हमेशा उच्च मानदंडों के साथ यह खेल खेला.  उन्होंने कहा, ‘मैंने हमेशा देश को सबसे पहले रखा और क्रिकेट प्रेमी जनता इसका गवाह रही है. मैं श्रीलंका की जनता और अपने प्रशंसकों का आभार व्यक्त करता हूं जो इस मुश्किल दौर में मेरे साथ खड़ी है.’

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: