न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

थरुर के ‘बिच्छु’ वाले बयान पर जावेड़कर का पलटवार, याद दिलाया राजीव गांधी का पुराना बयान

राजीव गांधी ने 1984 में विपक्ष को बिच्छु कहा था : जावेड़कर

27

Raipur: कांग्रेस नेता शशि थरुर के पीएम मोदी पर विवादित बयान पर बीजेपी का थरुर और कांग्रेस पर हमला रुक नहीं रहा है. केंद्रीय मंत्री रवि शंकर के बाद केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने बयान पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया. रविवार को उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और शिवलिंग पर कांग्रेस नेता शशि थरूर का बयान पार्टी की मानसिकता को दर्शाता है, जो 1984 में चुनावों के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा विपक्ष को ‘बिच्छु’ कहे जाने से स्पष्ट हो गई थी.

इसे भी पढ़ेंःबिहार में पांच सीटों पर चुनाव लड़ सकती है लोजपा

उन्होंने कांग्रेस पर परोक्ष रूप से माओवादियों का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र और छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार आने वाले कुछ वर्षों में नक्सलवाद की समस्या को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है.

‘राजीव गांधी ने की थी यही गलती’

शनिवार को थरूर द्वारा पीएम मोदी पर दिए गए के सवाल पर जावडे़कर ने कहा, कांग्रेस कयास लगा रही है कि राजनीतिक स्तर पर मोदी का मुकाबला कैसे करें, इसलिए वह अपमान करने पर उतर आयी है. राहुल बाबा रोज-रोज अपमान करते हैं. लोग वही करेंगे जो उन्हें आता है. शशि थरूर थोड़े सभ्य हैं लेकिन वह भी बिच्छु वाली टिप्पणी पर आ गए हैं.  उन्होंने कहा कि, ‘‘1984 में कांग्रेस का विज्ञापन था. राजीव गांधी 1984 के चुनावों में विपक्ष को बिच्छु कहने वाला विज्ञापन लेकर आए थे. यह कांग्रेस की मानसिकता को दर्शाता है.’’

इसे भी पढ़ेंःचार छात्रों को नंगा कर पीटा, वीडियो वायरल, सात गिरफ्तार

रविवार को संवाददाता सम्मेलन में जावडे़कर ने कहा, जब छत्तीसगढ़ का गठन हुआ राज्य में कांग्रेस सत्ता में थी. नक्सलवाद अपने चरम पर था. नक्सलवादियों के नियंत्रण वाला क्षेत्र पहले के मुकाबले घटकर एक तिहाई रह गया है. ज्ञात हो कि राज्य में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने हैं.

क्या कहा था शशि थरुर ने

शनिवार को शशि थरूर ने दावा किया था कि आरएसएस के एक सूत्र ने किसी पत्रकार से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शिवलिंग पर बैठे उस बिच्छु की तरह हैं जिन्हें न तो हाथ से हटाया जा सकता है और न हीं चप्पल से मारा जा सकता है.’’ थरूर ने ‘बेंगलुरु लिटरेचर फ़ेस्ट’ में अपनी नई किताब ‘द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर’ के बारे में बात करते हुए ये बातें कहीं.

इसे भी पढ़ें: ईडी ने बनाया रिकॉर्ड, तीन साल में 33,500 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

ये कोई पहला मौका नहीं है, जब थरुर अपने विवादित बयान को लेकर सुर्खियों में हो, कुछ दिनों पहले ही उन्होंने चेन्नई के एक कार्यक्रम में टिप्पणी की थी कि कोई भी “अच्छा हिंदू” किसी और की पूजा की जगह को ध्वस्त करके राम मंदिर बनते नहीं देखना चाहता. इससे, कुछ महीने पहले उन्होंने कहा था कि अगर बीजेपी 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत गई तो भारत ‘हिंदू पाकिस्तान’ बन जाएगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: