JharkhandRanchi

जैप-1 के डीआइजी राजीव रंजन सेवानिवृत्त, दी गयी विदाई

Ranchi : आइपीएस अधिकारी राजीव रंजन सिंह को सोमवार को विदाई दी गयी. वर्तमान में राजीव रंजन सिंह जैप-1 के डीआइजी पर तैनात थे. जैप-1 स्थित टीकू हॉल में आयोजित विदाई समारोह में विदाई दी गयी. जैप-1 में उनके सम्मान में गार्ड ऑफ ऑर्नर दिया गया. इस मौके पर जैप के कई वरीय पुलिस अधिकारी मौजूद थे. संयुक्त बिहार में डीएसपी के पद पर बहाल राजीव रंजन सिंह ने बिहार-झारखंड के महत्वपूर्ण स्थानों पर अपने बेहतर प्रदर्शन से विभाग में बेहतर छवि कायम की. अलग राज्य बनने के बाद झारखंड में आये इसके बाद वर्ष 2006 में इन्हें आइपीएस में प्रोन्नति मिली. रांची में ट्रैफिक एसपी, सिमडेगा, गोड्डा व पाकुड़ में एसपी रहे. उसके बाद कोल्हान एसपी बनाया गया. वर्तमान में जैप के डीआइजी थे. यहीं से सेवानिवृत्त भी हुए.

इसे भी पढ़ें – UP ELECTION :  RPN SINGH के बाद अब  UP कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और एक्टर राज बब्बर भी छोड़ सकते हैं पार्टी

इन योजनाओं की रांची ट्रैफिक एसपी रहते की थी शुरुआत

Catalyst IAS
ram janam hospital
  • ट्रैफिक पुलिस द्वारा घायल व्यक्ति को तत्काल इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए गोल्डेन आवर सिस्टम की शुरुआत वर्ष 2014 के फरवरी में की गयी थी. इस कार्यक्रम से सभी निजी अस्पतालों व एंबुलेंस को जोड़ा गया था. कार्यक्रम से जुड़े अस्पतालों कि जिम्मेदारी घायलों को त्वरित उपचार उपलब्ध कराने की थी. अभियान की शुरुआत तत्कालीन ट्रैफिक एसपी राजीव रंजन सिंह की पहल पर हुई थी. सिस्टम के तहत कुछ दिनों तक घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन मॉनिटरिंग के अभाव में यह सिस्टम भी फेल हो गया.
  • तत्कालीन ट्रैफिक एसपी राजीव रंजन सिंह ने जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए अपर बाजार समेत कुछ सड़कों को वन-वे किया था. इसके लिए ट्रैफिक सिपाहियों की तैनाती भी की गयी थी. लेकिन, यह व्यवस्था धीरे-धीरे फेल हो गयी. अपर बाजार में तैनात सिपाहियों को हटा लिया गया.
The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – कांके के पूर्व सीओ अनिल कुमार पर चलेगी विभागीय कार्यवाही

Related Articles

Back to top button