न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जन संघर्ष समिति और टुडरमा डैम से प्रभावित लोग सेक्युलर पार्टियों को देंगे समर्थन: जेरोम जेराल्ड

जल-जंगल-जमीन लूटनेवाली सरकार को बाहर का रास्ता दिखाना है

389

Ranchi: सांप्रदायिक और पूंजीपतियों का पोषण करनेवाली सरकार को चुनाव में समर्थन नहीं दिया जाएगा. वर्तमान में राज्य की परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लिया गया है कि केंद्रीय जन संघर्ष समिति और टुडुरमा डैम से प्रभावित लोग सेक्युलर पार्टियों को समर्थन देंगे. उक्त जानकारी केंद्रीय जन संघर्ष समिति के जेरोम जेराल्ड कुजूर ने दी. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों में राज्य में आदिवासियों के विरोध में लगातार निर्णय लिये गये. जिसमें सीएनटी-एसपीटी संशोधन, धर्मांतरण बिल, भूमि अधिग्रहण कानून का अध्यादेश समेत कई ऐसे निर्णय लिये गये, जिसने राज्य के आदिवासियों को आहत किया. ऐसी सरकार को लोकसभा चुनाव में राज्य से बाहर करना ही एक मात्र विकल्प है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – महागठबंधन के खिलाफ गरजे सीएम रघुवर, कहा : एक शेर का मुकाबला सियार का समूह नहीं कर सकता

स्थानीय मुद्दों को प्राथमिकता दी जाये

जेरोम ने कहा कि चुनाव में खड़ी हुई पार्टियों और उम्मीदवारों से यही उम्मीद है कि वे स्थानीय मुद्दों को प्राथमिकता दें. राज्य के आदिवासियों की आवाज और उनकी मांगों को लोकसभा तक पहुंचाएं. अब लोग जागरूक हैं. किसी भी कीमत पर अपने अधिकारों से समझौता नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि आनेवाली सरकार को भी यही चेतावनी है कि वे स्थानीय मुद्दों को प्राथमिकता दें. नहीं तो इसका नतीजा भी आनेवाली सरकार भुगतेगी.

इसे भी पढ़ें – Ranchi Nomination: उम्मीदवारी में सेठ पर भारी सहाय, लेकिन मोरहाबादी ने हरमू मैदान को दी है मात

ये हैं मांगें

  • नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज के संबध में जारी 1999 को रद्द करने की अधिसूचना गजट में पारित किया जाये
  • टुडरमा डैम परियोजना रद्द की जाये
  • व्याघ्र परियोजना एवं वाइल्ड लाइफ कॉरिडोर के नाम पर विस्थापन बंद हो
  • गांव की जमीन को बिना ग्राम सभा की सहमति के लैंड बैंक में देने की साजिश बंद की जाये
  • पेसा कानून वन अधिकार कानून 2006 को सख्ती से लागू किया जाये
  • भुइंहरी मुंडा को अनुसूचित जनजाति में शामिल किया जाये
  • पत्थलगड़ी के 29 मामलों को वापस लिया जाये
  • स्कूलों के विलय को रद्द कर पुनः सभी स्कूल खोले जायें

इसे भी पढ़ें – राज्य में खून की भारी कमी, अस्पताल नहीं मान रहे गाइडलाइन, 7वीं बार जारी हुआ निर्देश

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: