Jamtara

जामताड़ा : अग्निशमन विभाग में संसाधनों की कमी

Jamatara : जामताड़ा अग्निशमन विभाग बुनियादी सुविधाओं से जूझ रहा है. विभाग में मैन पावर के साथ-साथ दमकल गाड़ियों की भी कमी है. जिले में मात्र दो दमकल गाड़ियां हैं. जो आग बुझाने के लिए काफी नहीं है. क्योंकि जिला मुख्यालय से कई प्रखंड 60 से 80 किमी की दूरी पर स्थित है. जिले का अग्निशमन विभाग दो स्टाफ के भरोसे चल रहा है.

जामताड़ा जिले में 6 प्रखंड हैं. जिसमें कुल 1161 गांव आते हैं. जिले की आबादी लगभग 8 लाख है. जिले में आग लगने की घटना लगातार बढ़ रही है. लेकिन उससे निपटने के लिए संसाधनों की कमी है. जिससे लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.
वर्ष 2019 में जिले भर में 38 अगलगी की घटना सामने आई थी. वहीं वर्ष 2020 में आग लगी की 28 घटना घटित हुई है. जबकि वर्ष 2021 में अभी तक कुल 48 बार आग लगने की घटना हो चुकी है. जिसमें 29 घटना सिर्फ मार्च महीने की है. यह चिंता का विषय है.

विभागीय पदाधिकारी और कर्मियों की माने तो यह आंकड़ा सिर्फ निबंधित घटनाओं का ही है. ऐसी कई घटनाएं घटित हुई हैं, जिसकी सूचना अग्निशमन विभाग तक नहीं पहुंच सकी.

क्या कहते हैं प्रधान अग्नि चालक

प्रधान अग्नि चालक अशोक कुमार सिंह ने कहा कि हमारे यहां मैन पावर की सबसे बड़ी कमी है. विभाग में एक एसआई और एक एएसआई रैंक की जगह रिक्त है. वहीं दो दमकल हैं जिसके सहयोग से जहां सूचना मिलती है, वहां हम लोग आग बुझाने के लिए निकलते हैं. अशोक कुमार सिंह ने बताया कि संसाधनों की कमी से काम करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: