JamtaraJharkhand

जामताड़ा : डीसी के आदेश के बाद भी धीमी गति से हो रहे दाखिल-खारिज, लंबित मामलों से रैयत परेशान

विज्ञापन

Anwar Hussain

Jamtara: जिले में दाखिल-खारिज के मामलों का निबटारा समय पर नही हो रहा है. सरकार ने दाखिल खारिज के मामले के निबटारे के लिए समय सीमा का निर्धारण किया है. बावजूद इसके जिले में दाखिल-खारिज का काम लंबित हो रहा है. इसकी वजह से रैयतों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. रैयत, अंचल कार्यालय का चक्कर लगा-लगा कर थक जा रहे हैं. लेकिन समय पर उनका दाखिल खारिज का काम नही हो पा रहा है. कई-कई अंचलों में महीनों से मामला लंबित है.

इसे भी पढ़ें :Babri Demolition Case: 28 साल बाद कोर्ट का बड़ा फैसला, आडवाणी, जोशी समेत सभी 32 आरोपी बरी

advt

जामताड़ा जिला में कुल 101 मामले लंबित

बता दें कि जामताड़ा जिला में दाखिल खारिज के कुल 101 मामले लंबित है. सबसे ज्यादा लंबित मामले जामताड़ा प्रखंड अंचल में (कुल 60) है. जबकि कर्माटांड़ प्रखंड अंचल में 26 मामले लंबित है. वहीं नारायणपुर अंचल में 13 मामले लंबित है. जबकि उपरोक्त तीनो अंचलों में अंचलाधिकारी पदस्थापित हैं. इसके बाद भी दाखिल खारिज की योजनाएं लंबित है.

इसे भी पढ़ें :लघु खनिज पट्टाधारकों को 31 मार्च 2022 तक का मिला विस्तार,  नियमावली में किया गया संशोधन

डीसी ने दाखिल खारिज के निबटारे का दिया था आदेश

बता दें कि 14 सितंबर की समीक्षा बैठक में डीसी फैज अक अहमद ने दाखिल खारिज की योजनाएं जल्द से जल्द निपटारा करने का आदेश दिया था. अंचल कार्यालयों में इसके बाद भी कार्य धीमी गति से चल रहा है.

तीन प्रखंड में सीओ का पद रिक्त, लंबित नही है एक भी मामला

जिले के नाला, कुंडहित व फतेहपुर प्रखंड में अंचलाधिकारी का पद रिक्त है. इसके बाद भी दाखिल खारिज के मामले समय पर हो रहे हैं. वहीं जामताड़ा, नारायणपुर व कर्माटांड़ प्रखंड में अंचलाधिकारी पदस्थापित हैं. फिर भी दाखिल-खारिज का मामला समय पर नहीं हो निबटारा हो रहा है. जामताड़ा अंचल में 60 मामले,  कर्माताड़ अंचल में 26, नारायणपुर अंचल में 13 मामले लंबित है. वहीं कुंडहित अंचल में 2 मामला लंबित है. इस संबंध में अपर समाहर्ता सुरेंद्र कुमार के मोबाइल नंबर पर संपर्क करने पर बात नही हो सकी.

adv

इसे भी पढ़ें :रांची विश्वविद्यालय में इस सत्र से होगी जापानी भाषा की पढ़ाई, 3 अक्टूबर से मिलेगा नामांकन फॉर्म

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button