Education & CareerGossipJamshedpurJharkhandTRENDING

Jamshedpur Women’s University :  अंजलि गुप्ता के VC बनने से ज्यादा चर्चा शुक्ला मोहंती के कुलपति नहीं बनने की है, जानिये क्यों

Jamshedpur : भले ही मीडिया में डॉ अंजलि गुप्ता के जमशेदपुर महिला विश्वविद्यालय के कुलपति बनने की खबर है, मगर कोल्हान के शिक्षा जगत के गलियारे में वीसी इन वेटिंग मानी जा रही डॉ शुक्ला मोहंती सबसे बड़ी टॉकिंग प्वाइंट बनी हुई हैं. अपने राजनीतिक संपर्कों के लिए चर्चित मोहंती के कुलपति नहीं बनने को लेकर जितने मुंह, उतनी बातें कही जा रही हैं. सबसे बड़ी चर्चा का बिंदु डॉ शुक्ला मोहंती का मीडिया प्रेम है. दो साल से डॉ मोहंती को कुलपति की रेस में नंबर वन बतानेवाले एक अखबार ने फ्रंट पेज पर यह ब्रेकिंग खबर भी छाप दी कि वह वीमेंस कॉलेज की पहली कुलपति होंगी. बाद में राजभवन को इस खबर का खंडन करते हुए कहना पड़ा कि अभी तक कुलपतियों के नाम पर अंतिम मुहर नहीं लगी है. कुछ लोगों का यह कहना है कि अगर यह खबर नहीं छपी होती, तो शायद आज डॉ शुक्ला मोहंती कुलपति होतीं.

वैसे कुछ लोगों का यह भी कहना है कि कुलपति बनने के लिए 10 साल प्रोफेसर रहना जरूरी है. शुक्ला मोहंती प्रोफेसर का वेतनमान भले ही पाती थीं, लेकिन उनकी प्रोन्नति प्रोफेसर पद पर नहीं हुई थी. इस बारे में कुछ माह पहले सुप्रीम कोर्ट ने यूजीसी को सख्त आदेश दिया था कि कुलपति की नियुक्ति में यह सुनिश्चित किया जाये कि जिन उम्मीदवारों का चयन हो, वह कम के कम दस साल प्रोफेसर ग्रेड में रहे हो. जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज की पर्याय बन चुकी डॉ शुक्ला मोहंती के कुलपति नहीं बनने पर उनके प्रशंसकों को भी काफी धक्का लगा है.

इसे भी पढ़ें – सीएम हेमंत सोरेन ने लिए दो अहम फैसलेः कॉलेज निर्माण के लिए दी राशि, वनों की कटाई की होगी सीआइडी जांच

 

Catalyst IAS
SIP abacus

Related Articles

Back to top button