Crime NewsJamshedpurJharkhand

Jamshedpur sextortion : लौहनगरी में तेजी से फैल रहा सेक्सटॉर्शन का जाल, जाने-अनजाने में लोग हो रहे शिकार

RajKishor

Jamshedpur : जमशेदपुर में महानगरों की तर्ज पर सेक्सटॉर्शन का जाल तेजी से फैल रहा है. हैरानी की बात है कि खुद को पढ़े-लिखे और समझदार समझने वाले लोग भी जाने-अनजाने में इसके शिकार हो रहे हैं. ताजा मामला शहर के एक जाने-माने व्यक्ति से जुड़ा हुआ है. उसे अश्लीलता की जाल में फांसकर ब्लैकमेलिंग करने की कोशिश की जा रही है.

क्या है पूरा मामला
पीड़ित के मुताबिक बीते दिनों उसके मोबाइल के व्हाट्सएप पर किसी अनजान लड़की का मैसेज आया. उसमें लड़की ने सेक्स करने का ऑफर दिया था. पहले तो उस व्यक्ति ने मैसेज को इग्नोर किया, लेकिन मैसेज करनेवाली ने उसे इस कदर उत्तेजित किया कि वह भी उसके झांसे में आ गया और कुछ ऐसे पोज दे दिये, जो किसी के बहकावे में आकर देना नहीं चाहिए था. फिर क्या था, सारा कुछ मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया गया. उसके बाद शुरू हो गया अश्लील रिकॉर्डिंग को यूट्यूब और इंटरनेट में डालकर बदनाम करने की धमकी देने का धंधा. इसके बाद लगातार उस व्यक्ति से रुपये मांगने का सिलसिला जारी हो गया. अब हालत यह है कि उस व्यक्ति को अलग-अलग मोबाइल नंबर से फोन किया जा रहा है. अब उस व्यक्ति को समझ में आ गया है कि उसे जाल में फांसकर सेक्सटॉर्शन का शिकार बनाया गया है. उसके बाद उसने अपने कई परिचितों से सलाह-मशविरा कर साइबर पुलिस की शरण में जाने की तैयारी में है, ताकि वह साइबर ठगी के इस नये जाल से छुटकारा पा सके.

ram janam hospital
Catalyst IAS

सप्ताहभर में करीब दस मामले आते हैं सामने
इधर, जमशेदपुर साइबर पुलिस का कहना है कि सप्ताहभर में इस तरह के करीब दस मामले सामने आ रहे हैं. इस तरह के मामलों के शिकार बननेवालों में वैसे लोग ज्यादातर हैं, जो खुद को पढ़े-लिखे और समझदार समझते है. फिर भी कहीं न कहीं वे सेक्सटॉर्शन के जाल में फंस जा रहे हैं. जरूरत है इस तरह के मामलों से बचने की.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

लोगों को जागरूक होने की जरूरत : उपेंद्र मंडल


जमशेदपुर साइबर थाना प्रभारी उपेंद्र मंडल का कहना है कि साइबर ठगों के इस तरह के जाल में फंसने से बचाव को लेकर लगातार जागरूकता अभियान चलाया जाता है. लोग खुद सतर्क रहें, अनजाने नंबर से आये किसी भी मैसेज का रिस्पांस नहीं दे. किसी अनजाने लिंक को टच न करें. यदि किसी को नहीं जानते है, तो उसका फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट न करें. इस तरह की सावधानी बरतने से साइबर ठगों के जाल में फंसने से बचा जा सकता है. बावजूद इसके कोई साइबर ठगी के शिकार होने पर तत्काल साइबर पुलिस से संपर्क करें. पुलिस लोगों की मदद के लिए सदैव तैयार और तत्पर है.

ये भी पढ़ें- Jamshedpur accident : एनएच 33 पर पार्सल वैन और टैंकर में भिड़ंत, वैन चालक की मौत

Related Articles

Back to top button