JamshedpurJharkhand

जमशेदपुर : अंतरराज्यीय बस पड़ाव व  जयपाल सिंह स्टेडियम बनाने की योजना तीन साल से अटकी है

Abinash Mishra

Jamshedpur : जमशेदपुर में दो योजनाएं तीन साल से भी ज्यादा समय से लटकी हुई है.  स्वीकृति मिलने के बाद अब तक इन योजनाओं को पूरा हो जाना चाहिए लेकिन योजनाएं फाइलों में ही धूल फांक रही है, इन योजनाओं का खर्च हर साल बढते जा रहा है.खास बात यह कि सभी योजनाएं सीधे आम लोगों से जुड़ी है फिर भी इनकी कोई सुध लेने वाला नहीं.

शहर में अंतरराज्यीय बस पड़ाव बनाने की सरकार के  योजना को स्वीक़ृति 2015 में ही मिल गई थी. तब 28 करोड़ की लागत से इस बस पड़ाव का निर्माण मानगो के डिमना चौक पर करना था. एनएच पर बनने वाले इस प्रोजेक्ट को सभी सुविधाओं से लैस करना   है. जिसका वजट इन चार सालों में दो गुना यानि 60 करोड़ से ज्यादा का हो चुका है.जिस तरह से एयरपोर्ट में यात्रियों को सुविधाए दी जाती है. ठीक उसी तर्ज पर इस बस पड़ाव को भी तैयार करने की योजना है.

अतिक्रमण की समस्या

इस प्रोजेक्ट में जमीन का पेंच है.  सरकार अभी तक जमीन पर अतिक्रमण नहीं हटा सकी है. शुरुआत में सरकार ने 10 एकड़ की जमीन पर इस बसपड़ाव को बनाने की योजना बनाई थी लेकिन बीते चार सालों में पुरान स्टैंड में दबाव को देखते हुए अब ज्यादा जमीन की दरकार महसूस होने लगी है. इसके अलावा इस बस पड़ाव में सर्विस वर्कशॉप सिटी बस स्टैंड ऑटो, टैंक्सी स्टैंड,डोरमेट्री के साथ-साथ एक बड़ा कमर्शियल एरिया भी डेवलप करना है, लेकिन इसके लिए नक्शा भी अब तक  डिजाइन नहीं हो सका है.

मसला यहां भी उलझा हुआ है. इसमें और देर खर्च को 100 करोड तक भी पहुंचा सकती है. क्योंकि सरकार को अब दो बस पड़ाव के बनाने की बात कर रही है .जो शहर के दो छोर पर बनेंगे. अब इस पर एक बार फिर नये सिरे से विचार होना है. जिसके सीधा असर लागत पर ही पड़ेगा.

जयपाल सिंह स्टेडियम

जयपाल सिंह स्टेडियम का निर्माण भी अब तक फाइलों में ही धूल फांक रहा है क्योंकि उस वक्त इसकी लागत साढे चार करोड आंकी गई थी. जिसपर दो साल पहले फैसला हो चुका है. करनडीह प्रखंड मुख्यालय के पास 5000 सीटिंग कपैसिटी के इस स्टेडियम को बनना था जिसके लिए दस हजार स्कवायर फीट जमीन की दरकार थी लेकिन आज तक इस स्टेडियम की निर्माण नहीं हो सका.

क्या है परेशानी

मामला जगह को लेकर विवादों में फंस गया है. क्योंकि शहर के बीच में स्टेडियम और उसकी पार्किंग को लेकर ट्रैफिक की समस्या थी. डेढ़ साल पहले जगह बदलने को लेकर भी बैठकों का दौर चला लेकिन अभी तक इस पर कोई ठोस फैसला नहीं हो सका है. ताजा अपडेट इसमें यही है कि जगह पुरानी ही रहेगी लेकिन अब स्टेडियम 29 हजार स्क्वायर व फीट में बनेगा जिसकी क्षमता 12 हजार लोगो के बैठने की होगी . साथ में जिम और एक स्वीमिंग पुल भी होगा जिसकी लागत अब 62 करोड हो गई है..

इसे भी पढ़ें : बेरमो : फंड भुगतान नहीं, प्रसाद कंपनी ने 3 माह से बंद कर रखा है पावर प्लांट का काम, 6 महीने से नहीं दे पा रही वेतन

 

Advt

Related Articles

Back to top button