Education & CareerJamshedpurJharkhandRanchi

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर जमशेदपुर की इस टीचर को मिला सर्वश्रेष्ठ विज्ञान शिक्षक पुरस्कार

Jamshedpur : नेशनल अकादमी ऑफ साइंस इंडिया (नासी) के झारखंड चैप्टर ने राष्ट्रीय धातुकर्म प्रयोगशाला (एनएमएल) जमशेदपुर  के साथ मिलकर 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस समारोह का आयोजन किया. समारोह के मुख्य अतिथि  बीआईटी मेसरा (रांची) के कुलपति प्रो इंद्रनील मन्ना थे. एनएमएल के वैज्ञानिकों और तकनीकी समूह के अलावा 100 से अधिक शोधकर्ताओं ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से इस कार्यक्रम में भाग लिया. सभा को संबोधित करते हुए एनएमएल के निदेशक डॉ. इंद्रनील चट्टोराज ने इस दिन के महत्व के बारे में बताया. नासी के झारखंड चैप्टर के अध्यक्ष डॉ अरविंद सिन्हा ने भारत में  विज्ञान और प्रोद्योगिकी के विकास में नासी की भूमिका की चर्चा की.

हाई टेंपरेचर पर मेटेरियल्स की चुनौतियों पर व्याख्यान

मुख्य अतिथि प्रो इंद्रनील मन्ना ने “ऊंचे तापमान पर संरचनात्मक अनुप्रयोगों के लिए सामग्री और घटकों के विकास की चुनौतियां” विषय पर व्याख्यान दिया. अपने व्याख्यान में प्रो मन्ना ने अंतरिक्ष, वायुयान, ताप विद्युत संयंत्रों और अन्य क्षेत्रों में उच्च तापमान पर व्यापक उपयोग हेतु कठिन, हल्के, निर्माण योग्य और दुर्लभ धातुओं की  भूमिका के बारे में जानकारी दी. उन्होंने इस क्षेत्र में हो रहे नये विकास को भी बताया. डॉ आरके साहू, वरिष्ठ प्रधान वैज्ञानिक, सीएसआईआर-एनएमएल और नासी झारखंड चैप्टर के सचिव ने धन्यवाद दिया. कार्यक्रम को सफल बनाने में डॉ संदीप घोष चौधरी , डॉ एके साहू, के सुधाकर राव, चंचल का योगदान रहा.

ram janam hospital
Catalyst IAS

झारखंड की दो विज्ञान शिक्षिकाओं को मिला अवार्ड  

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

डॉ. अभिलाष, सदस्य, नासी, झारखंड चैप्टर ने 2021-22 के लिए सर्वश्रेष्ठ विज्ञान शिक्षक के पुरस्कारों की घोषणा की. मनीषा धवन (टीजीटी, पब्लिक हाई स्कूल, रामगढ़) और अंजू कुमारी (पीजीटी, बीपीएम प्लस टू हाई स्कूल, जमशेदपुर) को पुरस्कार प्रदान किया गया. प्रत्येक पुरस्कार विजेताओं को एक प्रशस्ति पत्र, पट्टिका और  दस हजार नकद दिये गये.

इसे भी पढ़ें –   सरयू राय ने सदन में जमशेदपुर के गोलमुरी में चंगाई सभा को लेकर बवाल और धर्मांतरण मामले की जांच की मांग उठायी

 

Related Articles

Back to top button