न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जमशेदपुर : इस्पात मंत्री धर्मेद्र प्रधान पहुंचे जमशेदपुर, सेल और टाटा से मीटिंग की, छोटी कंपनियों को भूले

चर्चा रही कि इस्पात मंत्री यदि छोटी कंपनियों की भी सुध ले लेते तो कई घरों को एक उम्मीद की किरण जरूर दिखती. 

1,229

Ranchi : देश के इस्पात एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान सोमवार को जमशेदपुर पहुंचे. प्रधान का हाई प्रोफाइल टाटा स्टील और सेल के साथ बैठक तक ही सीमित रहा.

सूत्रों की मानें तो देश के नवरत्न कंपनियों में से एक स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAIL) की खास्ता हालत को जानने के लिए उन्होने SAIL के अधिकारियों के साथ बैठक की जहां उन्होने SAIL की डिटेल जानकारी ली. साथ ही इस पर रिपोर्ट भी जल्द से जल्द दिल्ली भेजने का आदेश दिया.

इसके अलावा टाटा के अधिकारियों के साथ भी एक अलग मीटिंग हुई जहां टाटा के अधिकारियों ने सहज अंदाज में खनिज के उपलब्ध स्टॉक के बारे में जानकारी दी.

बता दें कि टाटा के पास खनिज का स्टॉक खत्म होता जा रहा है जिसकों लेकर कंपनी चिंतित है और नयी जगह की तलाश में है ताकि उनके उत्पादन पर कोई असर न पड़े.

नयी जगह लेने के लिए टाटा स्टील के अधिकारियों ने इस्पात मंत्री को मनाने में कसर नहीं छोड़ी. लेकिन मौके पर मौजूद पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल केवल प्रोटोकॉल निभाते नजर आये.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : नशा करने से रोकने पर नशेड़ियों ने मंदिर में तोड़फोड़ की, ग्रामीणों को पीटा, स्थिति तनावपूर्ण

छोटे उद्योगों में नहीं दिखायी दिलचस्पी 

अधिकारियों के बीच उपायुक्त ही एक अधिकारी थे जो शहर में मंदी से जूझ रहे छोटे इस्पात उद्योगों की हालत के बारे में इस्पात मंत्री को बता सकते थे लेकिन मंत्री ने कोई उत्सुकता नहीं दिखायी.

इसके अलावा उन्होंने और किसी तरह की बैठक नही की. प्रधान ने किसी भी तरह की राजनीतिक बैठक से भी परहेज किया.

इस भी शहर में इस बात की चर्चा रही कि मंदी के इस दौर में अगर इस्पात मंत्री टाटा स्टील और सेल के अधिकरियों के अलावा छोटी कंपनियों की भी सुध ले लेते तो कई घरों को एक उम्मीद की किरण जरूर दिखती.

इसे भी पढ़ें : झारखंड के राज्यसभा सांसद समीर उरांव पर जानलेवा हमला

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
झारखंड की बदहाली के जिम्मेदार कौन ? भाजपा, झामुमो या कांग्रेस ? अपने विचार लिखें —
झारखंड पांच साल से भाजपा की सरकार है. रघुवर दास मुख्यमंत्री हैं. वह हर रोज चुनावी सभा में लोगों से कह रहें हैं: झामुमो-कांग्रेस बताये, राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन कह रहें हैं: 19 साल में 16 साल भाजपा सत्ता में रही. फिर भी राज्य का विकास क्यों नहीं हुआ ?
लिखने के लिये क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: