JamshedpurJharkhandNEWS

Jamshedpur Special : अगर आपके बच्चे का नाम दाखिला सूची में हैं, तो आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है

मिशन एडमिशन : शहर के प्राइवेट स्कूलों में 24 जनवरी से शुरू होगी दाखिला प्रक्रिया

Avinash

Jamshedpur : अगर आपके बच्चे का नाम किसी स्कूल की सूची में आया है तो इन बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है. आपकी थोड़ी-सी असावधानी आपके बच्चे के भविष्य पर असर डाल सकती है, क्योंकि आज के फैसले पर निर्भर करेगा कि अगले 15 साल तक आपका बच्चा किस स्कूल में पढ़ेगा? ऐसे में न्यूज विंग आपको वह सारी जानकारियां यहां दे रहा हैं, जो आपके बच्चे के भविष्य की मजबूत नींव के लिए जरूरी हैं. शहर के अधिकतर स्कूलों में 24 जनवरी से दाखिला प्रक्रिया शुरू हो रही हैं. लोयोला स्कूल में यह प्रक्रिया रविवार 23 जनवरी से ही शुरू हो गई. दाखिला के पहले इन तीन बातों का रखे ध्यान-

पहलास्कूलों का चयन कैसे करें?

शहर के प्राइवेट स्कूल दो बोर्ड से सम्बद्ध है-सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड. सीबीएसई बोर्ड सरकारी बोर्ड है जबकि आईसीएसई बोर्ड प्राइवेट. सीबीएसई के स्कूल देश के हर शहर में मिल जाएंगे, लेकिन आईसीएसई के स्कूल नहीं. आईसीएसई स्कूलों के बारे में यह धारणा है कि उसमें अनुशासन बेहतर होता है और इंग्लिश की शिक्षा अच्छी तरह से दी जाती है. यही कारण है कि जमशेदपुर में जूनियर कक्षाओं में आईसीएसई स्कूलों में दाखिला का तो क्रेज हैं लेकिन दसवीं के बाद पैरेन्ट्स बच्चों को सीबीएसई स्कूलों में दाखिला कराने लगते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि सीबीएसई स्कूलों का सिलेबस प्रतियोगी परीक्षाओं के अनुकूल है. कुछ साल पहले तक इसमें कुछ हद तक सच्चाई थी, लेकिन अब यह धारणा हकीकत नहीं है. आईसीएसई ने भी हायर क्लासेस में अपने सिलेबस को बहुत हद तक सीबीएसई की तर्ज पर कर दिया है. अमूमन यह देखा गया है कि पढ़ाई के बीच में बच्चों के बोर्ड बदलने से उनका परफॉर्मेस प्रभावित होता है और उन्हें नये स्कूल में कोप अप करने में परेशानी होती है. ऐसे में कोशिश करें कि अपनी जरूरत के हिसाब से ऐसे स्कूल का चयन करें, जो आपको शूट करता है. मसलन अगर आपका जॉब टॉन्सफेरेबल हैं, तो सीबीएसई स्कूल को प्राथमिकता दें.

दूसरास्कूल का प्रबंधन कौन है?

किसी भी स्कूल में दाखिला लेने से पहले पैरेन्ट्स शायद ही यह देखते हैं कि स्कूल का संचालक या प्रबंधक कौन है? शहर में वैसे भी काफी स्कूल हैं, जो मनी मेकिंग के नजरिये से किसी एक व्यक्ति द्वारा संचालित होते है. ऐसे स्कूल में दाखिला बिल्कुल ना लें. कोई ट्रस्ट, संस्था या मिशन द्वारा चलाए जाने वाले स्कूलों को ज्यादा तव्वजो दें. ऐेसे स्कूल में कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं होता. अमूमन मिशनरी स्कूलों में डिसिप्लीन बेहतर देखा जाता है.

तीसराफैकल्टी कैसी है?

एक पैरेन्ट्स के लिए यह जान पाना मुश्किल होता है लेकिन आप उस स्कूल के किसी दूसरे पैरेन्ट्स से इस बारे में बात कर जानकारी ले सकते हैं. स्कूल का सबसे महत्वपूर्ण स्टेक होल्डर टीचर होता है. जो स्कूल अपने शिक्षक को सही वेतन, माहौल और सम्मान नहीं देता, उस स्कूल में अच्छे शिक्षक नहीं होते हैं. कई लोग केवल ब्रांड के नाम पर स्कूलों में दाखिला तो करा लेते हैं, लेकिन बाद में पता चलता है कि शिक्षकों की गुणवत्ता बेहद खराब है. ऐसे में कोशिश करें कि उस स्कूल में बच्चों का दाखिला कराएं, जहां पर शिक्षक अच्छे हैं.

स्कूलों में दाखिले के समय ये दस्तावेज मांगे जायेंंगे

1.जन्म प्रमाण पत्रजिस बच्चे का आप दाखिला कराने जा रहे हैं, उस बच्चे का वैध जन्म प्रमाण पत्र आपके पास होना जरूरी है. अगर आप जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र में रहते हैं तो जेएनएसी से जारी किया वैध प्रमाण पत्र होना चाहिए. कई स्कूल हॉस्पिटल में बच्चे के बर्थ का डिस्जार्च लेटर भी मांगते हैं.

2.आधार नंबरकई स्कूल बच्चे का आधार नंबर मांगते हैं. अगर बच्चे का आधार नंबर नहीं है तो किसी एक पैरेन्ट्स के नाम का आधार नंबर होना जरूरी है.

3.एड्रेस प्रूफस्कूल बच्चे का एड्रेस प्रूफ भी मांगते हैं. आधार नंबर के साथ ही वोटर आईडी कार्ड या राशन कार्ड भी मांगा जाता है.

4.बच्चे का ब्लड ग्रुपकई स्कूल बच्चे का ब्लड ग्रुप मांगते हैं. मसलन डीबीएमएस इंग्लिश स्कूल में दाखिला के लिए बच्चे का ब्लड ग्रुप देना जरूरी है.

5.बच्चे का मेडिकल फिटनेस प्रमाण पत्र-कई स्कूल बच्चे का मेडिकल फिटनेस प्रमाण पत्र भी मांगते हैं. डीएवी पब्लिक स्कूल ने इस साल पैरेन्ट्स से मेडिकल फिटनेस का प्रमाण पत्र मांगा है.

6.एससी, एसटी और ओबीसी प्रमाण पत्रस्कूल आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के दाखिला के लिए सक्षम पदाधिकारी से जारी किया हुआ एससी, एसटी और ओबीसी का प्रमाण पत्र मांगते हैं.

7. क्रिश्चियन (कैथोलिक) बच्चों को बैपटिज्म सर्टिफिकेट देना जरूरी होता है.

8.बच्चे का फोटो– दाखिले के वक्त बच्चे का फोटो तो लगता ही है, अब अधिकतर स्कूल पैरेन्ट्स के साथ भी फोटो मांगने लगे हैं. ऐसे में आपके पास फोटो होना भी जरूरी है.

9.बीपीएल प्रमाण पत्रआजकल बीपीएल के नाम पर सबसे ज्यादा फर्जीगिरी हो रही है. ऐसे में कई स्कूल बीपीएल प्रमाण पत्र को बीडीओ से प्रमाणित कराना आवश्यक कर दिए हैं, क्योंकि स्कूलों को कई केस फर्जी बीपीएल कार्ड बनाने के मिले हैं.

10.एडमिशन के लिए फीस-एक आम पैरेन्ट्स के लिए बच्चे का स्कूल में दाखिला कराना इसलिए भी आसान नहीं होता क्योंकि एडमिशन के वक्त काफी पैसे लगते हैं. अमूमन 20-25 हजार रूपए कमाने वाले पैरेन्ट्स के लिए एडमिशन में 15 से लेकर 25 हजार रूपए तक की व्यवस्था करना मुश्किल होता है.

शहर के टॉप टेन स्कूलों के बारे में जानें

1.लोयोला स्कूल-यह स्कूल कभी लड़कों का स्कूल हुआ करता था, लेकिन अब यह पूरी तरह से को-एड हो गया है. पहले यहां पर केजी में दाखिला होता था, लेकिन अब एलकेजी में होता है. जिन बच्चों का नाम इस साल की सूची में भी आया है, उनका इन्टैक्शन रविवार 23 जनवरी से शुरू हो गया. हर रोज तीन स्लॉट में यह इन्टरैक्शन चल रहा हैं. कई बार इन्टरैक्शन को पैरेन्ट्स इन्टरव्यू समझने की गलती कर बैठते हैं. स्कूल प्रबंधन के अनुसार पैरेन्ट्स और बच्चे के साथ होने वाले इस इन्टरैक्टिव सेशन में हम पैरेन्ट्स के बारे में जानकारी लेते हैं. साथ ही सारे कागजात की सत्यता को जांचते हैं. कई बार फर्जी प्रमाण पत्र मिलने पर दाखिला को रद्द करना पड़ता है. स्कूल में 23 से लेकर 26 जनवरी तक तीन स्लॉट में यह इन्टरैक्शन होगा.

2.लिटिल फ्लावर स्कूल टेल्को

लिटिल फ्लावर स्कूल टेल्को ने नर्सरी कक्षा में दाखिला के लिए 135 स्टूडेन्ट्स का रिजल्ट जारी किया है. इसके लिए सोमवार 24 जनवरी से एडमिशन स्लिप जारी होगा. बीपीएल उम्मीदवारों का अपना प्रमाण पत्र बीडीओ से प्रमाणित करना जरूरी होगा.

3.सेक्रेड हॉर्ट कॉन्वेंट स्कूल

लड़कियों के स्कूल सेक्रेड हॉर्ट कॉन्वेंट ने एलकेजी में दाखिला के लिए 150 उम्मीदवारों का रिजल्ट जारी किया है. लेकिन कब से एडमिशन स्लिप मिलेगा, इसकी जानकारी नहीं दी गई है.

4.कारमेल जूनियर कॉलेजकारमेल जूनियर कॉलेज ने नर्सरी में दाखिला के लिए 180 उम्मीदवारों का रिजल्ट जारी किया है. चयनित बच्चों के एडमिशन स्लिप 25 जनवरी को जारी होंगे. पैरेन्ट्स को फीस 31 जनवरी से लेकर 2 फरवरी के बीच जमा करना है.

5.डीबीएमएस इंग्लिश स्कूल-डीबीएमएस इंग्लिश स्कूल ने केजी वन में दाखिला के लिए सूची जारी किया है. चयनित बच्चों का दाखिला 25, 27 और 28 जनवरी को किया जाएगा.

6.केरला समाजम मॉडम स्कूल-केरला समाजम मॉडल स्कूल ने एलकेजी में दाखिला के लिए रिजल्ट जारी किया है. 24, 25 और 27 जनवरी को रॉल नंबर के आधार पर दाखिला होगा. दाखिला लेने के बाद अगर कोई पैरेन्ट्स बच्चे का नाम हटाना चाहता है तो फीस वापस नहीं होगा.

7.हिल टॉप स्कूलहिल टॉप स्कूल ने नर्सरी में दाखिला के लिए रिजल्ट जारी किया है. टाटा मोटर्स के कर्मचारियों को एडमिशन फॉर्म 24 जनवरी और बाकी के पैरेन्ट्स को 25 जनवरी को जारी किया जाएगा.

8.डीएवी पब्लिक स्कूलडीएवी पब्लिक स्कूल सीबीएसई स्कूलों में शहर का शीर्ष स्कूल है. इस स्कूल में दाखिला में टाटा स्टील के कर्मियों के साथ ही सिबलिंग, एल्युमनी और स्टॉफ के लिए कोटा होता है. यहां पर दाखिला 24-25 जनवरी को होगा.

9.विद्या भारती चिन्मया विद्यालय-विद्या भारती चिन्मया विद्यालय में भी नर्सरी में दाखिला के लिए 24 और 25 जनवरी को एडमिशन फॉर्म जारी किया जाएगा.

10.जमशेदपुर पब्लिक स्कूलजमशेदपुर पब्लिक स्कूल भी सीबीएसई स्कूल हैं. नर्सरी में दाखिला के लिए स्कूल ने रिजल्ट जारी कर दिया है. दाखिला से संबंधित अन्य सूचना स्कूल के नोटिस बोर्ड पर जारी की गई है.

इसे भी पढ़ें – चौका थाना से मात्र 200 मीटर दूर अपोलो के शोरूम से 40 टायरों समेत 10 लाख की संपत्ति चोरी

Advt

Related Articles

Back to top button